Saturday , November 27 2021
Home / MainSlide / हिमाचल में मंत्री इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल,वीरभद्र को करारा झटका

हिमाचल में मंत्री इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल,वीरभद्र को करारा झटका

शिमला 15अक्टूबर।हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को करारा झटका  देते हुए राज्य के ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनिल शर्मा, भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गये हैं। उनके पुत्र आश्रय शर्मा और उनके पिता पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम भी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

सूत्रों के अनुसार सुखराम के वरिष्ठता के बावजूद राज्य कांग्रेस द्वारा मंडी में पिछले दिनों की गई रैली में उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया था।ऐसे में यह दोनों नेता राज्य कांग्रेस नेतृत्व से नाराज थे और कांग्रेस को झटका देने के लिए उचित समय के इंतजार में थे। इससे पहले 1998 में भी सुखराम ने भाजपा नेता प्रेमकुमार धूमल के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अनिल शर्मा इस सरकार में धूमल मंत्रिमंडल का हिस्सा थे। इस बीच, सूत्रों का कहना है कि वीरभद्र मंत्रिमंडल के एक और वरिष्ठ मंत्री जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

श्री शर्मा ने कहा कि वे भाजपा में शामिल होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपनों को साकार करने का भरसक प्रयास करेंगे।उन्होने कहा कि..हिमाचल मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर मैं भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुआ हूँ। मेरे पिता जी पंडित सुखराम जी को हमेशा नकारा गया कांग्रेस के अंदर और हाल में जो घटनाएं हुई है और जब कांग्रेस के तरफ से एक लिस्ट निकली। लिस्ट के  अंदर प्रचार करने के लिए जो नेता रखे गये थे उसमें सभी मंत्रियों को तकरीबन शामिल किया गया था। एक-दो को छोड़कर जिसमें मुझे भी इसमें बाहर रखा गया। इस बात को संज्ञान लेते हुए मैंने अपने कार्यकर्ताओं से भी बातचीत की और उन कार्यकर्ताओं के कहने के ऊपर मैंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की है..।

राज्य से भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने ट्वीट संदेश में श्री शर्मा को भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज़ उठाने और प्रधानमंत्री के नवभारत के संकल्प में शामिल होने के लिये बधाई दी है।