Friday , May 20 2022
Home / MainSlide / हर व्यक्ति को आजीवन याद रहता है स्कूल का पहला दिन – रमन

हर व्यक्ति को आजीवन याद रहता है स्कूल का पहला दिन – रमन

रायपुर 19जून।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने कहा कि हर व्यक्ति के जीवन में स्कूल का पहला दिन, वहां की पहली कक्षा और पहले शिक्षक आजीवन याद रहते हैं।

डा.सिंह ने आज राजधानी के भाठागांव स्थित नगर माता बिन्नी बाई सोनकर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परिसर में आयोजित समारोह में राज्य स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का शुभारंभ करते हुए यह विचार व्यक्त किया। उन्होंने प्राथमिक से लेकर हाईस्कूल  कक्षाओं तक नये प्रवेश लेने वाले बच्चों का तिलक लगाकर और मिठाई खिलाकर स्वागत करते हुए उन्हें आशीर्वाद दिया।

उन्होने  कहा कि मुझे आज भी याद है कि उस जमाने में माता-पिता जब बच्चों को स्कूल में दाखिले के लिए ले जाते थे, तो बच्चे भय और संकोच की वजह से रोते थे। माता-पिता को उनका हाथ पकड़कर स्कूल ले जाना पड़ता था, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रत्येक शिक्षा सत्र के लिए शुरू की गई शाला प्रवेश उत्सवों की परम्परा से बच्चों में स्कूल के प्रति उत्साह और आकर्षण बढ़ा है। अब अधिकांश बच्चे पहले ही दिन से हंसते हुए स्कूल जाते हैं।

डा.सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शुरू किए गए डा.ए.पी.जे.अब्दुलकलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान सहित स्कूल में दिये जा रहे संसाधनों के फलस्वरूप अब हमारे सरकारी स्कूलों का स्तर काफी बढ़ा है और पढ़ाई के मामले में सरकारी और निजी स्कूलों में कोई अंतर नहीं रह गया है।उन्होने कहा कि मैंने स्वयं और हमारे साथियों ने भी सरकारी स्कूलों में पढ़ाई की है। मेरे बच्चों ने भी सरकारी शिक्षा संस्थाओं में पढ़ाई की है और डाक्टर तथा इंजीनियर बने हैं।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर नगर माता बिन्नी बाई सोनकर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में नये शिक्षा सत्र से कृषि संकाय शुरू करने की घोषणा की। उन्होंने इस विद्यालय परिसर में स्कूल शिक्षा विभाग के माध्यम से एक आउटडोर स्टेडियम भी बनवाने का ऐलान किया।