Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / स्वतंत्र प्रेस लोकतंत्र की रीढ़ – मोदी

स्वतंत्र प्रेस लोकतंत्र की रीढ़ – मोदी

रायपुर 16 नवम्बर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वतंत्र प्रेस को लोकतंत्र की रीढ़ बताते हुए कहा हैं कि सरकार प्रेस और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को हर रूप में कायम रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

श्री मोदी ने आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर मीडियाकर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि वे चाहते हैं कि भारत के मीडिया में देश के सवा सौ करोड़ लोगों के कौशल, उनकी ताकतों और उनकी रचनात्मकता को अधिक से अधिक जगह मिले।उन्होने इस मौके पर किए कई ट्वीट सन्देशों में कहा कि जिन लोगों की कोई नहीं सुनता मीडिया उनकी आवाज सुनाता है और उनकी यह भूमिका प्रशंसनीय है।

उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों में मीडिया ने स्वच्छ भारत मिशन को बहुत बड़ी ताकत दी है और स्वच्छता के संदेश का कारगर ढंग से प्रसार किया है।उन्होने कहा कि आज के दौर में सोशल मीडिया का प्रचलन बढ़ रहा है और मोबाइल फोन पर भी लोग समाचार देख-सुन सकते हैं।इस तरह की प्रगति से मीडिया की पहुंच भी बढ़ेगी और उसका उपयोग अधिक लोकतांत्रिक और सहभागी बनेगा।

प्रधानमंत्री ने भारतीय मीडिया के कठिन परिश्रम की सराहना की और विशेष रूप से उन संवाददाताओं तथा कैमराकर्मियों की प्रशंसा की जो अथक प्रयासों से जमीन पर जाकर लोगों तक खबरें पहुंचाते हैं।