Saturday , May 21 2022
Home / MainSlide / सेना प्रमुख ने की मानवाधिकार की रिपोर्ट की कड़ी आलोचना

सेना प्रमुख ने की मानवाधिकार की रिपोर्ट की कड़ी आलोचना

नई दिल्ली 27 जून।सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार की रिपोर्ट की कड़ी आलोचना करते हुए इसे प्रायोजित बताया है।

श्री रावत ने आज यहां साइबर टेक्नोलोजी कांफ्रेंस में कहा कि कश्मीर में सेना की कार्रवाई पक्षपात रहित और पारदर्शी है।उन्होने कहा कि..मुझे नही लगता कि भारतीय सेना के मानवाधिकार रिकॉर्ड के बारे में सोचने की जरूरत है।कश्मीर के लोग ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी जानता है कि भारतीय सेना का मानवाधिकार रिकॉर्ड सबसे ऊपर है। और इस बारे में ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है..।

जनरल रावत ने साइबर युद्धप्रणाली की चर्चा करते हुए कहा कि यह उभरता हुआ क्षेत्र है, जिसमें बड़ी संभावनाएं हैं और सेना को इसका लाभ उठाना चाहिए।उन्होंने कहा कि भारत को साइबर क्षेत्र में अपने विरोधियों से आगे रहने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि चीन टेक्नोलोजी के क्षेत्र में काफी आगे बढ़ गया है ऐसे में हमें भी साइबर क्षेत्र में दक्षता बढ़ानी चाहिए।