Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / सामाजिक समरसता कबीर पंथ की देन –रमन

सामाजिक समरसता कबीर पंथ की देन –रमन

बेमेतरा 20 दिसम्बर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि सामाजिक समरसता कबीर पंथ की देन है।महान संत कबीर की वाणी देश-दुनिया में आज भी गुंजायमान है।

डॉ.सिंह ने आज लोलेसरा में आयोजित पंथ श्री हुजुर उग्रनाम साहेब स्मृति संत समागम में लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि संत कबीर ने आज से सैकड़ों वर्ष पूर्व जो बातें कही, कबीर पंथ के अनुयायी उनके विचारों को जन-जन तक पहुंचा रहे है।उन्होंने कहा कि दुनिया के महान संत कबीर, जिन्होंने तत्कालिन समय में समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों और असमानता को दूर करने का मार्ग समाज को दिखाया।

उन्होने कहा कि कबीर की वाणी में ऐसी शक्ति है, जो लोगों को एकसूत्र में पिरोने में सहायक रही है। आज उनके अनुयायी इसे कबीर पंथ के रूप में कायम रखे हुए है। उन्होंने कहा कि संतों के आशीर्वाद से प्रदेश में विकास का मार्ग प्रशस्त हुआ है।उन्होंने अवगत कराया कि प्रदेश में जल संरक्षण एवं संवर्धन के क्षेत्र में बेहतर कार्य हुए है। वहीं सिंचाई सुविधाओं के विस्तार हेतु किसानों को 4 लाख 32 हजार पंप कनेक्शन दिए गए है। बेमेतरा जिले के खारे पानी प्रभावित गांवों में शिवनाथ नदी का मीठा पानी पहुंचाने समूह जल योजना क्रियान्वित की गई है। क्षेत्र में जलस्तर को बढ़ाने कार्य योजना बनाकर कार्य किए जा रहे है।

उन्होंने पंथ श्री प्रकाश मुनिनाम साहेब के पैतृक ग्राम बहरमुड़ा सहित क्षेत्र के किसानों को धान बोनस राशि, फसल बीमा व सूखा राहत राशि शीघ्र वितरित कराये जाने का भरोसा दिलाया। मुख्यमंत्री ने विधायक श्री चंदेल की मांगों का जिक्र करते हुए मेला स्थल को सुरक्षित कर बाउंड्रीवाल निर्माण और यात्री प्रतीक्षालय व शेड निर्माण की घोषणा की। उन्होंने कहा कि गुरू के प्रति प्रेम और धर्म के प्रति आस्था इस क्षेत्र के लोगों ने आज भी कायम रखा है। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि कबीर के विचारों के अनुसार छत्तीसगढ़ में सुख, समृद्धि और शांति हेतु पूरा प्रयास किया जायेगा।