Sunday , September 25 2022
Home / राजनीति / सांसद मुरलीधरन-वोट उन्हीं को देंगे जो नेहरू परिवार को स्वीकार करते हैं..

सांसद मुरलीधरन-वोट उन्हीं को देंगे जो नेहरू परिवार को स्वीकार करते हैं..

केरल के सांसद मुरलीधरन ने कहा है कि ने कहा वे वोट उन्हीं को देंगे जो नेहरू परिवार को स्वीकार करते हैं। बता दें कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया 25 सितंबर से शुरू होगी।
तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने की अटकलों के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता के मुरलीधरन ने मंगलवार को कहा कि राज्य की पार्टी केवल उन्हीं को वोट देगी, जो नेहरू परिवार की प्रमुखता को पहचानते हैं। उन्होंने राहुल गांधी के लिए पार्टी प्रमुख का पद संभालने की इच्छा भी व्यक्त की और कहा कि शीर्ष पद को स्वीकार करने की उनकी अनिच्छा सभी के लिए चिंता का कारण है।

राहुल गांधी के पद ग्रहण करने को लेकर कोई विवाद नहीं

मुरलीधरन ने यहां चल रही भारत जोड़ो यात्रा से इतर संवाददाताओं से कहा, ‘किसी के बीच इस बात को लेकर कोई विवाद नहीं है कि राहुल गांधी आकर पद ग्रहण करें। लेकिन यह उन पर निर्भर करता है कि वह इस पद को स्वीकार करते हैं या नहीं।’

‘हम केवल उन्हीं को वोट देंगे, जो नेहरू परिवार की प्रमुखता को पहचानते हैं’

लोकसभा सांसद ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के बारे में स्पष्ट तस्वीर 30 सितंबर को पता चल सकती है। इसके अगले दिन यात्रा राज्य की सीमाओं को पार कर जाएगी। उन्होंने कहा, ‘वैसे भी हम केवल उन्हीं को वोट देंगे जो नेहरू परिवार की प्रमुखता को पहचानते हैं।’

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में तटस्थ रहेंगी सोनिया गांधी

दो दशकों से अधिक समय के बाद कांग्रेस में पार्टी प्रमुख के पद के लिए एक प्रतियोगिता देखने की संभावना है। शशि थरूर के साथ सोनिया गांधी और अशोक गहलोत की बैठक के बाद उन्हें दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, थरूर ने सोमवार को सोनिया गांधी से मुलाकात की और आगामी एआईसीसी अध्यक्ष चुनाव लड़ने की इच्छा व्यक्त की, जबकि कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि वह चुनाव में ‘तटस्थ’ रहेंगी।

ऐतिहासिक होंगे चुनाव

आगामी चुनाव निश्चित रूप से ऐतिहासिक होंगे क्योंकि नए अध्यक्ष सोनिया गांधी की जगह लेंगे, जो सबसे लंबे समय तक पार्टी की प्रमुख हैं। वे 1998 के बाद से, 2017 और 2019 के बीच के दो वर्षों को छोड़कर, जब राहुल गांधी ने पदभार संभाला था, पार्टी की प्रमुख हैं।

24 सितंबर से शुरू होगा नामांकन

चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 सितंबर से 30 सितंबर तक होगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 8 अक्टूबर है और यदि आवश्यक हुआ तो चुनाव 17 अक्टूबर को होगा। परिणाम 19 अक्टूबर को आएंगे।