Sunday , May 22 2022
Home / MainSlide / विपक्षी पार्टियां समाज में फूट डालने के प्रयास में- मोदी

विपक्षी पार्टियां समाज में फूट डालने के प्रयास में- मोदी

संत कबीर नगर(उ.प्र.) 28 जून।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विपक्षी पार्टियों की आलोचना करते हुए उन पर समाज में फूट डालने का प्रयास करने का आरोप लगाया है।

श्री मोदी ने आज यहां एक जनसभा में यह आरोप लगाते हुए कहा कि केन्‍द्र सरकार संत कबीर दास के उपदेशों पर अमल करते हुए सबका साथ सबका विकास की नीति पर चल रही है।उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार की विभिन्‍न बड़ी योजनाओं के तहत लोगों को बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं,आवास तथा खाद्य और सामाजिक सुरक्षा उपलब्‍ध कराने के प्रयास किये जा रहे हैं।हमारी सरकार गरीब, दलित, पीडि़त, शोषित, वंचित, महिलाओं को, नौजवानों को सशक्‍त करने की राह पर चल रही है।

उन्होने विपक्षी पार्टियों की आलोचना करते हुए कहा कि कुछ पार्टियां समाज में फूट डालने के प्रयास कर रही हैं।उन्‍होंने कहा कि इस तरह की विघटनकारी ताकतों का मुकाबला करने के लिए संत कबीरदास की शिक्षाओं का प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए।प्रधानमंत्री ने उत्‍तरप्रदेश की पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी सरकार की भी आलोचना करते हुए कहा कि उसने अपने कार्यकाल में प्रधानमंत्री आवास योजना के काम में रोड़े अटका दिये थे।

अपने चिरपरिचित अंदाज में प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरूआत भोजपुरी भाषा में की और अंत साहेब बंदगी कह कर किया जो कबीरदास के लिए सम्‍मान के साथ इस्‍तेमाल किया जाने वाला संबोधन है। बारिश के बावजूद हजारों की संख्‍या में कबीरपंथी और बड़ी तादात में भाजपा कार्यकर्ता प्रधानमंत्री को सुनने के लिए रैली में मौजूद रहे। इससे पहले श्री मोदी ने संत कबीरदास को श्रद्धासुमन अर्पित किए और उनकी मजार पर चादर चढ़ाई। प्रधानमंत्री संत कबीर की गुफा को भी देखने गए। प्रधानमंत्री ने आज दो दिवसीय कबीर महोत्‍सव का शुभारंभ भी किया और प्रसिद्ध लोक कलाकारों भेरो सिंह चौहान और भारतीय बंधु के भजनों को भी सुना।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने संत कबीर अकादमी की आधारशिला रखने के सिलसिले में एक पट्टिका का भी अनावरण किया। उन्‍होंने कहा कि अकादमी की स्‍थापना का उद्देश्‍य संत कबीर दास के उपदेशों और दर्शन का प्रचार प्रसार करना है।कबीर के गायन प्रशिक्षण भवन, कबीर नृत्‍य प्रशिक्षण भवन, रिसर्च सेंटर, लाइब्रेरी, ऑडिटोरियम, हॉस्‍टल, आर्ट गैलरी इन सब को विकसित करने की इसमें योजना है। संत कबीर अकादमी उत्‍तर प्रदेश की आंचलिक भाषाओं और लोकविधाओं के विकास और संरक्षण के लिए भी काम करेगी।

इस अवसर पर केन्द्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री महेश शर्मा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे।