Tuesday , January 25 2022
Home / MainSlide / राष्ट्रपति ने गिरौदपुरी धाम पहुंच कर मंदिर में की पूजा-अर्चना

राष्ट्रपति ने गिरौदपुरी धाम पहुंच कर मंदिर में की पूजा-अर्चना

गिरौदपुरी/रायपुर 06 नवम्बर।राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने आज छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध तीर्थ गिरौदपुरी धाम पहुंच कर गुरू बाबा घासीदास जी के मंदिर में पूजा-अर्चना की। उन्होंने वहां सामुदायिक भवन का भूमिपूजन किया।

श्री कोविन्द ने  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले और सतनामी समाज के धर्मगुरूओं तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ गिरौदपुरी के विशाल जैतखाम का अवलोकन भी किया।

राष्ट्रपति ने जैतखाम को गुरू बाबा घासीदास के सत्य, अहिंसा और परोपकार की भावना के अनुरूप लाखों-करोड़ों लोगों की आस्था का प्रतीक और अत्याधुनिक वास्तु शिल्प का बेजोड़ उदाहरण बताया।छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा निर्मित यह विशाल जैतखाम दिल्ली के कुतुबमीनार से भी पांच मीटर ज्यादा ऊंचा है। इस जैतखाम की ऊंचाई 77 मीटर है।

राष्ट्रपति ने विशाल जैतखाम के वास्तुशिल्प और इसके निर्माण में अपनायी गई आधुनिक तकनीकों की भी तारीफ की।विशाल जैतखाम की असाधारण ऊंचाई को ध्यान में रखकर इसकी डिजाईन भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई.आई.टी) रूड़की के तकनीकी विशेषज्ञों से अनुमोदित करवाई गई थी। यह जैतखाम वायु दाब और भूकम्प रोधी है। इसमें अग्नि और आकाशीय बिजली से सुरक्षा के लिए भी उच्च स्तरीय तकनीकी प्रावधान किए गए हैं। इसकी बुनियाद 60 मीटर व्यास की है। इसके आधार तल पर लगभग दो हजार श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था सहित एक विशाल सभागृह का निर्माण भी किया गया है।