Thursday , December 2 2021
Home / छत्तीसगढ़ / रमन ने जनदर्शन में 57 लाख रूपए के 13 निर्माण कार्यों की दी स्वीकृति

रमन ने जनदर्शन में 57 लाख रूपए के 13 निर्माण कार्यों की दी स्वीकृति

रायपुर 24 अगस्त।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने आज सवेरे यहां आम जनता से मुलाकात के साप्ताहिक कार्यक्रम जनदर्शन में विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों और ग्रामीणों के आग्रह पर लगभग 57 लाख रूपए की लागत के 13 कार्यों की स्वीकृति प्रदान की। इन कार्यों में पुलिया निर्माण, सीमेंट कांक्रीट सड़क निर्माण के कार्य शामिल हैं।

डा.सिंह से विभिन्न जिलों से आये ग्रामीणों, विभिन्न प्रतिनिधि मण्डलों और जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात करके उन्हें अपनी समस्याएं बतायीं।मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को समस्याओं के निराकरण के लिए आवश्यक निर्देश दिए।राजनांदगांव जिले के लिमऊटोला से आये ग्रामीणों के प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्यमंत्री को आवेदन देकर गांव के भदरी खोल नाला पर सिंचाई जलाशय का निर्माण कराने का आग्रह किया। प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे लोग पिछले 15-20 वर्षों से इस जलाशय के निर्माण की मांग कर रहे हैं।डा.सिंह ने जल संसाधन विभाग के सचिव को प्रतिनिधि मण्डल के आवेदन का परीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री से आज 762 लोगों ने मुलाकात कर उन्हें अपनी समस्याएं बतायीं। इनमें से 537 लोगों ने अपनी व्यक्तिगत समस्याओं और 32 प्रतिनिधि मण्डलों में 225 लोगों ने विभिन्न सार्वजनिक समस्याओं के संबंध में आवेदन दिए।

मुख्यमंत्री से सर्व विभागीय दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी संघ के प्रतिनिधि मण्डल ने मुलाकात कर दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को नियमित करने का आग्रह किया और इस संबंध में उन्हें विज्ञापन भी सौंपा। मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद आठ अगस्त से हड़ताल पर दैनिक वेतनभोगियों ने हड़ताल समाप्त करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को प्रतिनिधि मंडल के आवेदन का परीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए हैं।

गरियाबंद जिले के ग्राम भैंसातरा से आए कमार आदिवासियों के प्रतिनिधि मंडल ने गांव में विद्युत पोल विस्तार और सिंचाई नलकूपों के लिए बिजली कनेक्शन प्रदान करने का आग्रह करते हुए मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक को प्रतिनिधि मंडल के आवेदन पर परीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए हैं।

इस दौरान गंभीर बीमारियों से पीड़ित अनेक मरीजों ने इलाज के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का आग्रह मुख्यमंत्री से किया । मुख्यमंत्री ने ऐसे 32 मरीजों को संजीवनी कोष से आर्थिक सहायता प्रदान करने की स्वीकृति दी। डॉ. सिंह के निर्देश पर 13 मरीजों को निःशुल्क इलाज के लिए राजधानी स्थित अम्बेडकर अस्पताल भेजा गया है। जनदर्शन में लगाए गए डायबेटिक रिसर्च सोसायटी के स्टॉल में 45 लोगों का रक्त परीक्षण कर मधुमेह की जांच की गई और डॉ.अम्बेडकर अस्पताल के स्टॉल पर 16 मरीजों का रक्त परीक्षण कर मधुमेह और सिकलिंग की जांच की गई।