Thursday , December 9 2021
Home / देश-विदेश / म्यामां में रोहिंग्या लोगों पर अमानवीय व्यवहार की निंदा

म्यामां में रोहिंग्या लोगों पर अमानवीय व्यवहार की निंदा

न्यूयार्क 29 सितम्बर।संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुतरॅश ने म्यामां में रोहिंग्या लोगों पर अमानवीय व्यवहार की निंदा करते हुए वहां की सरकार से रोहिंग्या लोगों के विरुद्ध सैन्य कार्रवाई बंद करने और देश के अशांत पश्चिमी क्षेत्र में मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों को वहां जाने की इजाजत देने को भी कहा है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में श्री गुतरॅश ने कल अपने भाषण में कहा कि रोहिंग्या समस्या बड़ी तेजी से दुनिया की सबसे बड़ी शरणार्थी त्रासदी में बदल रही है और पांच लाख से अधिक रोहिंग्या शरणार्थियों ने बांग्लादेश में शरण ली है।

इस बीच, म्यामां के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार थाउंग तुन ने सुरक्षा परिषद में कहा कि उनके देश में जातीय नरसंहार जैसी कोई बात नहीं हुई है।उन्होंने श्री गुतरॅश को म्यामां दौरे के लिए भी आमंत्रित किया।

उधर संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत निक्की हेली ने सदस्य देशों से म्यामां को तब तक हथियारों की सप्लाई निलम्बित रखने को कहा है, जब तक वहां की सेना रोहिंग्या लोगों के खिलाफ हिंसा को लेकर जवाबदेही के उपाय नहीं कर लेती। हालांकि चीन और रूस ने म्यामां सरकार के प्रति समर्थन व्यक्त किया है।