Thursday , July 7 2022
Home / MainSlide / मोदी संवैधानिक संस्थाओं को कर रहे हैं नष्ट- महंत

मोदी संवैधानिक संस्थाओं को कर रहे हैं नष्ट- महंत

रायपुर 26 अक्टूबर।छत्तीसगढ़ प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर देश की संवैधानिक संस्थाओं को नष्ट करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनका बस चले तो वह स्वतंत्रता दिवस की तिथि भी बदल दे।

राज्य के माना स्थित सीबीआई मुख्यालय के सामने आयोजित धरने को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि मोदी जी देश में प्रशासनिक संस्थाओं पर हस्तक्षेप कर उसकी विश्वसनीयता को समाप्त करने में लगे हैं सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को हटाने के लिए आधी रात को असंवैधानिक प्रक्रिया अपनाई गई उससे सीबीआई की साख गिरी है और देश का भरोसा टूटा है। उन्होने कहा की मोदी जी का बस चले तो 15 अगस्त 1947 को मिली देश की आजादी की तारीख को भी बदलवा कर 26 मई 2014 रखले जब वे प्रधानमंत्री पद का शपथ  लिए थे।  9 अगस्त क्रांति दिवस को बदलकर 1 जुलाई 2017 रख ले जब जीएसटी लागू किया गया।

पूर्वमंत्री सत्यनारायण शर्मा ने कहा की केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब से सत्ता पर आए हैं देश में बनाए गए कानून और संविधान के साथ लगातार छेड़छाड़ कर रहे हैं बाबा साहब अंबेडकर के बनाए संविधान पर कुठाराघात किया जा रहा है देश की जनता के विश्वास तोड़ने का काम मोदी जी कर रहे हैं उनके इन प्रयासों को कांग्रेश कभी सफल होने नहीं देगी पुरजोर विरोध किया जाता रहेगा।

धरना देने वालों में पूर्व मंत्री धनेंद्र साहू, प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, महामंत्री सुभाष शर्मा, सूर्यमणि मिश्रा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व महामंत्री संजय पाठक, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी, संयुक्त महासचिव अमित पांडेय, प्रदेश सचिव अजय साहू, शहर अध्य्क्ष गिरीश दुबे, युवक कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव दिपक मिश्रा, इम्तियाज हैदर, सुरेश ठाकुर, विकास तिवारी, विकास शुकला, सत्यम शुक्ला, सुनील चन्नावार, सन्टी चावला, जी श्रीनू, युवक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष द्वय महेंद्र गंगौत्री, कोको पाढ़ी, अजहर रहमान, मुरारी गौर सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस के नेता शामिल थे।