Tuesday , November 30 2021
Home / MainSlide / मोदी ने नई केदारपुरी के पुनर्निर्माण की रखी आधा‍रशिला

मोदी ने नई केदारपुरी के पुनर्निर्माण की रखी आधा‍रशिला

केदारनाथ धाम 20 अक्टूबर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना की।भगवान शिव के इस पावन धाम के पुजारियों और स्‍थानीय लोगों ने प्रधानमंत्री का स्‍वागत किया। प्रधानमंत्री ने गर्भ गृह में बैठकर रूद्राभिषेक किया।

श्री मोदी ने इस मौके पर नई केदारपुरी के पुनर्निर्माण की आधा‍रशिला रखी। यह क्षेत्र जून 2013 में मंदाकिनी नदी में आई अचानक बाढ़ में नष्‍ट हो गया था। प्रधानमंत्री ने आदि‍ शंकराचार्य के समाधि स्‍थल के पुनर्निर्माण और एक संग्रहालय के निर्माण की भी आधारशिला रखी। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा केदार की असली सेवा तो देश के सवा सौ करोड़ लोगों की सेवा है।

उन्होने कहा कि..एक बाबा क्‍या सवा सौ करोड़ बाबा है देश में कभी उनकी सेवा तो करो और हमारे यहां तो कहा गया है जन सेवा ही प्रभू सेवा है और इसलिए आज मेरे लिए सवा सौ करोड़ देशवासियों की सेवा यही बाबा की सेवा है। यही बद्री विशाल की सेवा है। यही मंदाकिनी की सेवा है..।

श्री मोदी ने कहा कि केदारनाथ की इस यात्रा से उनका देश सेवा का संकल्‍प और पक्‍का हो गया है। उन्‍होंने कहा कि 21वीं सदी में हर घर में बिजली कनेक्शन होना चाहिए और राज्यों को हर परिवार तक कल्याण योजनाओं के फायदे पहुंचाने चाहिए।

उन्होने कहा कि चार करोड़ परिवारों में घर के अंदर बिजली का कनेक्‍शन देने का मैंने बीड़ा उठाया है। उत्‍तराखंड में अभी भी हजारों परिवार है जिनके यहां मुझे बिजली पहुंचानी है। मैं उत्‍तराखंड सरकार को निमंत्रण देता हूं भारत सरकार के इस अभियान को उठा लीजिए और राज्‍यों राज्‍यों के बीच स्‍पर्धा हो। कौन राज्‍य सबसे पहले सौभाग्‍य योजना पूरी करता है।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि जून, 2013 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने केदारनाथ धाम के पुनर्विकास का प्रस्ताव रखा था, जिसे कांग्रेस ने मना कर दिया था।