Thursday , May 26 2022
Home / MainSlide / मोदी ने छोटे और द्वीपीय देशों की चिंताओं पर ध्यान देने पर दिया जोर

मोदी ने छोटे और द्वीपीय देशों की चिंताओं पर ध्यान देने पर दिया जोर

लंदन 20अप्रैल।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राष्‍ट्रमण्‍डल शासनाध्‍यक्षों के सम्‍मेलन में छोटे और द्वीपीय देशों की चिंताओं पर ध्‍यान देने पर जोर दिया है।

प्रधानमंत्री चोगम सम्‍मेलन के समापन पर राष्‍ट्रमंडल सदस्‍य देशों के प्रतिनिधियों से दूसरे दौर की बातचीत करेंगे जिसमें कई मुद्दों पर औपचारिक विचार-विमर्श होगा।प्रधानमंत्री सदस्‍य देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय वार्ता जारी रखेंगे।

श्री मोदी ने तकनीकी सहयोग और अन्‍य मुद्दों पर राष्‍ट्रमंडल कोष में भारत के योगदान दोगुना करने की घोषणा करने के साथ ही छोटे दीप राष्‍ट्रों के विकास के लिए आावश्‍यकता पर बल दिया। राष्‍ट्रमंडल शासनाध्‍यक्षों की बैठक चोगम में कल चर्चा की गई।प्रमुख मुद्दों में लोकतंत्र को मजबूत करना, अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार प्रणाली सतत विकास लक्ष्‍य और जलवायु जैसे मुद्दे शामिल थे।

प्रधानमंत्री श्री मोदी युवा और महिलाओं के विकास के लिए 16 वर्ष से कम आयु के तीस लड़के और तीस लड़कियों को भारत में बीसीसीआई के माध्‍यम से क्रिकेट प्रशिक्षण देने की भी बात कही है। इसके अलावा प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कल लंदन में ही ऑस्‍ट्रेलिया, बांगलादेश, दक्षिण अफ्रीका, त्रिनिडाड और टोबैगो, गाम्बिया और मॉरीसस जैसे देशों के प्रमुखों के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। भारत और बांगलादेश के प्रधानमंत्री के बीच हुई वार्ता के दौरान विकास सहयोग पर ध्‍यान केंद्रित किया।

इस बीच विदेश मंत्रालय ने कहा है कि श्री मोदी ने कल पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री से मुलाकात नहीं की है और न ही आज किसी ऐसी बैठक होनी है। प्रधानमंत्री तीन देशों की अपनी यात्रा के तीसरे और अंतिम चरण में बर्लिन के लिए रवाना होंगे जहां वे जर्मनी की चांसलर अंगेला मार्केल के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे।