Thursday , December 2 2021
Home / MainSlide / भू-राजस्व संहिता संशोधन आदिवासियों के साथ छल – कांग्रेस

भू-राजस्व संहिता संशोधन आदिवासियों के साथ छल – कांग्रेस

रायपुर 05 जनवरी।छत्तीसगढ़ आदिवासी कांग्रेस ने राज्य की भाजपा सरकार पर विधानसभा के पिछले सत्र में भू-राजस्व संहिता संशोधन को बहुमत के आधार पर पारित कर प्रदेश के आदिवासियों के साथ फिर से एक बार छल करने का आरोप लगाया है।

प्रदेश कांग्रेस के आदिवासी मोर्चे के अध्यक्ष शिशुपाल शोरी,विधायक संतकुमार नेताम एवं मोहन मरकाम ने संयुक्त पत्रकार सम्मेलन में यह आरोप लगाते हुए कहा कि आदिवासियों की भूमि ही उनकी अस्मिता व सम्मान का परिचायक है, जिसे सुरक्षित रखने के लिये उसकी खरीदी-ब्रिक्री पर पूर्णतः प्रतिबंध है,जिसे राज्य की भाजपा सरकार ने संशोधन विधेयक के माध्यम से आपसी सहमति के आधार पर खरीदने की छूट प्रदान कर दी है।

उन्होने कहा कि सरकार का कहना है कि आदिवासी की जमीन सहमति से केवल सरकारी प्रोजेक्ट के लिये खरीदी जा सकेगी, किन्तु संशोधन विधेयक में “सरकार उपयोग हेतु” ही जमीन खरीदे जाने का कोई उल्लेख नहीं है।आदिवासियों की अस्मिता से जुड़े से विधेयक पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने भी अपनी आपत्ति जताई है। इस विषय पर दलगत राजनीति से उपर उठकर भाजपा के आदिवासी विधायकों को भी मुखर होकर अपनी बात रखनी चाहिये।