Wednesday , May 18 2022
Home / MainSlide / भूपेश की राजापुर को उप तहसील का दर्जा देने की घोषणा

भूपेश की राजापुर को उप तहसील का दर्जा देने की घोषणा

सीतापुर 11 मई।राज्यव्यापी भेंट मुलाकात दौरे पर निकले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राजापुर को उप तहसील बनाने समेत कई सौगाते दी।

श्री बघेल राजापुर में कटहल, पीपल और काजू पेड़ो की छाव में साल और पलाश के पत्तों से बने पंडाल में आमजनों से रूबरू हुए। उन्होंने वहां उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें गौ माता की खूब सेवा करनी है। गाय बहुत उपयोगी है, वह दूध भी देती है और गोबर भी। स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन किया जा रहा है। गोबर से बिजली उत्पादन का कार्य भी किया जा रहा है। गोबर से पेंट भी बनाया जाएगा। अब गौमूत्र खरीदने के लिए भी योजना तैयार की जा रही है।

उन्होंने यहां राजापुर को उप तहसील बनाने, राजापुर में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल, मांड नदी पर हर्रापार में पुल, शुद्ध पेयजल के लिए नल जल योजना, राजापुर में ग्रामीण सहकारी बैंक, राजापुर हाईस्कूल में बाउंड्रीवॉल निर्माण, समनिया से सिकनिया तक तथा कदनई से समनिया-मैनपाट तक सड़क निर्माण और मैनपाट में स्टेडियम निर्माण की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने राजापुर में 75 लाख रूपए की लागत से बने नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का शिलान्यास भी किया।

श्री बघेल से स्कूली छात्रा ने कहा कि हमें आपके गांव जाना है और वह स्कूल देखना है, जहां आपने अपनी प्रारम्भिक पढ़ाई पूरी की। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आप मेरे व्यक्तिगत मेहमान हैं आपका स्वागत है मैं वहां आपको अपना स्कूल, अपने खेत और बाड़ी भी दिखाऊंगा। आप सभी वहां भोजन भी करना और विश्राम भी। मुख्यमंत्री ने तत्काल बच्ची की इच्छा पूरी करते हुए कलेक्टर को उन्हें अपने गांव लाने के लिए निर्देशित किया।

राजापुर के किसान दिनेश कुमार प्रजापति ने मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना गोधन न्याय योजना की तारीफ करते हुए बताया कि कोरोना संकट के समय जब आर्थिक संभावनाएं न के बराबर रह गयी तब उन्होंने गोबर बेचकर परिवार की मूलभूत जरूरतों की पूर्ति की। इस इस दौरान जब स्कूल बंद हो गए तो बच्चों की ऑनलाइन शिक्षा के लिए उन्होंने गोबर बेचकर मोबाइल खरीदा।