Sunday , September 25 2022
Home / बाजार / भारतीय रेलवे ने शताब्‍दी से चलने वाले पैसेंजर्स को द‍िया जबरदस्‍त तोहफा

भारतीय रेलवे ने शताब्‍दी से चलने वाले पैसेंजर्स को द‍िया जबरदस्‍त तोहफा

यात्र‍ियों के बेहतर अनुभव के ल‍िए लगातार काम कर रही भारतीय रेलवे ने इस बार शताब्‍दी से चलने वाले पैसेंजर्स को जबरदस्‍त तोहफा द‍िया है. अगर आप भी शताब्‍दी ट्रेन से यात्रा करते हैं तो यह खबर आपके ल‍िए है. जी हां, सेंट्रल रेलवे जोन ने पांचवा व‍िस्‍टोड‍ियम कोच पेश क‍िया है. इस कोच को रेलवे की तरफ से पुणे-सिकंदराबाद-पुणे शताब्दी एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या 12026/12025) में लगाया गया है.

सफर के दौरान प्रकृत‍ि का लुत्‍फ उठा सकते हैं यात्री
व‍िस्‍टोड‍ियम कोच में यात्रा करने वाले यात्री सफर के दौरान प्रकृत‍ि का लुत्‍फ उठा सकते हैं. आने वाले द‍िनों में रेलवे की प्‍लान‍िंग और भी ट्रेनों में इस तरह के कोच की सुव‍िधा शुरू करने की है. इस तरह के कोच में यात्रा करने का मजा अलग ही हाता है. इसमें ऊपर की तरफ लगे शीशे और चौड़ी खिड़की के पैनल से सफर का कई गुना बढ़ जाता है

ये है सिकंदराबाद-पुणे शताब्‍दी की टाइम‍िंग
सिकंदराबाद-पुणे विकाराबाद वाडी खंड के साथ अनंतगिरी पहाड़ियों के शानदार दृश्य से गुजरती है. पुणे- सिकंदराबाद शताब्‍दी एक्‍सप्रेस पुणे से सुबह 6 बजे चलकर (मंगलवार को छोड़कर) सिकंदराबाद दोपहर में 2.20 बजे पहुंचती है. वापसी में सिकंदराबाद से दोपहर 2.20 बजे चलकर रात को 11.10 पर पुणे पहुंचती है.

इस ट्रेन में यात्री भीगवान के पास उजनी बैकवाटर और बांध का भी आनंद इसमें बैठकर ले सकते हैं. इस कोच में एलईडी लाइट, रोटेटेबल और पुशबैक चेयर, इलेक्ट्रिकली ऑपरेटेड ऑटोमेटिक स्लाइडिंग कम्पार्टमेंट डोर, चौड़े साइड स्लाइडिंग डोर आदि सुविधाएं दी गई हैं. इस कोच में यात्रियों को 360-डिग्री व्यू म‍िलता है.