Thursday , August 18 2022
Home / MainSlide / बेनामी सम्पत्तियों के जाने के भय से कांग्रेस कर रही हैं विमुद्रीकरण का विरोध – मोदी

बेनामी सम्पत्तियों के जाने के भय से कांग्रेस कर रही हैं विमुद्रीकरण का विरोध – मोदी

पालनपुर(हिमाचल प्रदेश) 05 नवम्बर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विमुद्रीकरण के विरोध को लेकर कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वह बेनामी सम्पत्तियों के जाने के भय से इसका विरोध कर रही हैं।

श्री मोदी ने आज यहां एक चुनावी सभा में कहा कि कांग्रेस 08 नवम्बर को भय के कारण विरोध दिवस मना रही है।उन्होने जोर देकर कहा कि विमुद्रीकरण के बाद तीन लाख से अधिक कम्पनियां जांच के दायरे में आई हैं।उन्होंने यह भी कहा कि इनमें से पांच हजार कम्पनियों के बारे की गई जांच से चार हजार करोड़ रूपये के कालेधन के लेनदेन का पता चला।उन्होंने कहा कि अगर सभी कम्पनियों के लेनदेन की जांच की जाये तो स्थिति का अनुमान लगाया जा सकता है।

उन्होने कहा कि हमारे देश का भविष्य एक ही बात पर निर्भर करता है कि हम विकास को प्राथमिकता कैसे दे। चंहू दिशा में विकास कैसे करे, तेज गति से विकास कैसे करे, विकास का लाभ गरीब से गरीब तक कैसे पहुचाएं, विकास हमारे युवा पीढ़ी के सपनों को साकार करने का मार्ग कैसे बने। यही एकमात्र जड़ी बूटी है जो देश की समस्याओं का समाधान कर सके।

वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) का जिक्र करते हुए उन्होने कहा कि देश में जी एस टी का गर्मजोशी से स्वागत हुआ है क्योंकि इससे परिवहन क्षेत्र को बड़ा फायदा हुआ है।किसी भी व्यापारी संगठन ने जीएसटी का कभी भी विरोध नहीं किया। इस देश ने जीएसटी का स्वागत किया, क्योंकि पहले टेक्स पर टेक्स, टेक्स पर टेक्स, टेक्स पर टेक्स लगा रहते थे वे जीएसटी के कारण दो दिन में पहुंचने वाला ट्रक आज दो दिन में पहुंचने लगा है।

उन्होने कहा कि फिर भी कुछ समस्याएं रह गई आने वाली 09 और 10 तारीख को जीएसटी काउंसिल की मीटिंग होने वाली है।जीएसटी के जो बचे हुए काम है, उसको भी पूरा कर दिया जाएगा और उसके बाद भी कोई बात रह जाएगी तो आगे वाली जीएसटी काउंसिल में उसकी भी चर्चा करके रास्ते खोल दिए जाएंगे।