Sunday , November 28 2021
Home / खास ख़बर / बिहार के विकास में केन्द्र करेगा सभी संभव मदद – मोदी

बिहार के विकास में केन्द्र करेगा सभी संभव मदद – मोदी

मोकामा(बिहार) 14 अक्टूबर।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने बिहार की जनता को आश्‍वासन दिया है कि केन्‍द्र और राज्‍य सरकार बिाहर के विकास के लिए सभी संभव उपाय करेगीं।

श्री मोदी ने मोकामा में लगभग 37 अरब रूपये की अनेक परियोजनाओं की आधारशिला रखने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ग्रामीण भारत के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए दिन-रात काम कर रही है। उन्‍होंने कहा कि आज जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी गई है उससे बिहार के विकास को गति मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने आज जिन सड़क परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया, उसमें बिहार जैसे घनी आबादी वाले राज्‍य की कनेक्टिविटी में काफी सुधार होगा। पटना में नमामिगंगे परियोजना के तहत गाद सीवरेज प्‍लांट का निर्माण का कार्य पूरा हो जाने के बाद गंगा में बढ़ते प्रदूषण को रोका जा सकेगा। मोकामा में गंगा नदी में छह लेन का पूल बनने से उत्‍तर और दक्षिण बिहार के बीच आवागमन आसान हो जायेगा और आर्थिक गतिविधियां भी तेज हो जायेगी।

इससे पहले, पटना विश्‍वविद्यालय के शताब्‍दी समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि देश के दस सरकारी और दस निजी संस्‍थान को विश्‍व स्‍तर का विश्‍वविद्यालय बनाया जाएगा। इनका चयन पूरी तरह से योग्‍यता के आधार पर किया जाएगा।

उन्होने कहा कि..विश्‍व के पांच सौ टॉप यूनिवर्सिटीज में हिन्‍दुस्‍तान का कहीं नामोनिशान नहीं है, जिस धरती पर नालंदा, विक्रमशिला, तक्‍क्षशिला, ऐसी यूनिवर्सिटीज पूरे विश्‍व को आकर्षित करती थीं। क्‍या वो हिन्‍दुस्‍तान दुनिया की पहली पांच सौ यूनिवर्सिटीज में कहीं न हो। इसी मिजाज से एक योजना भारत सरकार लाई है। कि देश की दस प्राइवेट यूनिवर्सिटी और देश की दस पब्लिक यूनिवर्सिटीज इनको वर्ल्‍ड वार बनाने के लिए आने वाले पांच साल में दस हजार करोड़ रूपया देगा..।

प्रधानमंत्री छात्रों से रोजमर्रा की समस्‍याओं के हल के लिए नवाचार का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि भारत स्‍टार्ट-अप के क्षेत्र में विश्‍व में चौथे स्‍थान पर है। उन्‍होंने आशा व्‍यक्‍त की कि आने वाले वर्षो में वह शीर्ष पर होगा।

श्री मोदी बाद में पटना संग्रहालय देखने गए। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में अन्‍य लोगों के अलावा बिहार के राज्‍यपाल सतपाल मलिक, मुख्‍यमंत्री नीतिश कुमार, केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रामविलास पासवान और रविशंकर प्रसाद मौजूद थे।