Sunday , September 25 2022
Home / जीवनशैली / बच्चों को बुरी संगत से बचाने के लिए अपनाए ये तरीका

बच्चों को बुरी संगत से बचाने के लिए अपनाए ये तरीका

परवरिश के दौरान माता-पिता अपने बच्चों की संगत को लेकर परेशान रहते हैं कि उनका बच्चा कहीं गलत लोगों के साथ ना उठने-बैठने लग जाए। खासतौर से छोटे बच्चे जब अपने जीवन में गलत संगत में पड़ जाते हैं। इसका बुरा प्रभाव जीवनभर रहता हैं। बच्चों की संगत का असर उनके व्यक्तित्व और व्यवहार में दिखने लगता है। इसके लिए बच्चों से नजदीकी बढ़ाते हुए उनकी हरकतों पर नजर रखने की जरूरत होती हैं। बच्चे की संगत का अंदाजा लगने पर आप उन्हें बुरी संगत की चपेट में आने से भी बचा सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस तरह बच्चों को बुरी संगत में जाने से बचाने से बचाया जा सकता हैं। आइये जानें इसके बारे में…

बच्चों को पर्याप्त समय दें

बच्चों को बुरी संगत से बचाने के लिए उन्हें पर्याप्त समय जरूर देना चाहिए। अगर आप अपने बच्चे को पर्याप्त समय देते हैं तो इससे आपकी और बच्चे के बीच बॉन्डिंग अच्छी होगी। ऐसा करने से बच्चा आसानी से अपने दिल की बात आपसे करेगा और उसे किसी भी तरह की परेशानी होने पर आप उसकी मदद भी कर पाएँगे। ऐसा करने से आपका बच्चा बुरी संगत करने से भी बचेगा।

बन जाएं बच्चों के दोस्त

यूं तो हर बच्चा घर से बाहर दूसरे बच्चों से दोस्ती करता ही है। लेकिन जिन बच्चों के पैरेंट्स जरूरत से ज्यादा बिजी रहते हैं या फिर वह बच्चों की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते, ऐसे बच्चे अक्सर खुद को अकेला महसूस करते हैं और वह अकेलापन दूर करने के लिए बाहर की दुनिया की तरफ ज्यादा भागते हैं। इसलिए बच्चे को गलत संगत में जाने से रोकने का सबसे अच्छा तरीका है कि पहले आप ही उनकी दोस्त बन जाएं। इससे कई लाभ होंगे। सबसे पहले तो उन्हें बाहर दोस्त बनाने की जरूरत महसूस नहीं होगी और उनके दोस्त बेहद सीमित होंगे। इसके अलावा जब उनकी आपसे बॉन्डिंग अच्छी होगी तो यकीनन वह हर बात आपसे शेयर करेगा और आपकी सुनेगा भी। इस स्थिति में आप महज अपनी बातों से ही बच्चे को किसी भी तरह की गलत संगत या बुरी आदतों से दूर रख सकती हैं।

बच्चे के दोस्तों की पूरी जानकारी रखें

बच्चे को गलत संगत से बचाने के लिए आपको उसके दोस्तों के बारे में जानकारी जरूर होनी चाहिए। इसलिए आप इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आपका बच्चा कैसे लोगों के साथ दोस्ती रखता है। उसके दोस्त कैसे हैं। इसकी जानकारी होने पर उसके गलत संगत में जाने का खतरा कम होगा और आप उसे आसानी से गलत संगत में जाने से बचा सकते हैं। बच्चे के दोस्तों को करीब से जानने के लिए आप घर में किड्स पार्टी रख सकती हैं। बर्थडे के अलावा आप आईसक्रीम पार्टी आर्गेनाइज करें। इससे आप बच्चे के हर दोस्त से रूबरू होंगी और आप हर दोस्त के बारे में करीब से जान पाएंगी।

ना करें उन्हें सीधे मना

अगर आपको ऐसा लगता है कि बच्चे का कोई दोस्त ठीक नहीं है या फिर उसकी संगत में रहकर आपका बच्चा बिगड़ रहा है तो आप कभी भी सीधे ही बच्चे को उससे दूर रहने के लिए ना कहें। दरअसल, यह एक ऐसी उम्र होती है, जब आप बच्चे को कोई काम करने के लिए मना करती हैं या फिर उन्हें उनके दोस्तों से दूर होने के लिए कहती हैं तो बच्चों को आप ही गलत नजर आती हैं। ऐसे में रिश्ते में तनाव उत्पन्न होता है। इसलिए आप कभी भी सीधे तौर पर उन्हें मना ना करें। बेहतर होगा कि आप उस बच्चे की सच्चाई धीरे-धीरे अपने लाडले के सामने लेकर आएं। आप बातों ही बातों में उन्हें समझा सकती हैं कि किस तरह गलत संगत उनके जीवन के लिए खतरनाक है।

बहुत ज्यादा सख्ती से पेश न आएं

जो बच्चे ज्यादा इमोशनल होते हैं उनके साथ सख्ती से पेश न आएं। ऐसे बच्चों से आपको नर्मी बरतनी होगी। जो बच्चे ज्यादा इमोशनल होते हैं वो ज्यादा समझदार भी होते हैं, आप उन्हें कोई बात प्यार से समझाएंगे तो वो आसानी से समझ पाएंगे वहीं अगर आप सख्ती दिखाएंगे तो बात बिगड़ सकती है। बहुत ज्यादा इमोशनल बच्चे सख्ती से पेश आने की वजह से और ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं।