Sunday , May 29 2022
Home / छत्तीसगढ़ / पूर्ण शराबबंदी की मांग,मंत्री के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस ने किया बहिर्गमन

पूर्ण शराबबंदी की मांग,मंत्री के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस ने किया बहिर्गमन

रायपुर 04 जुलाई।छत्तीसगढ़ में शराबबंदी बंदी करने की मांग को लेकर कांग्रेस ने आबकारी मंत्री अमर अग्रवाल को घेरा। मंत्री के द्वारा शराबबंदी के मामले में शासन द्वारा बनाई गई कमेटी का हवाला देते हुए कहा कि यह व्यापक परीक्षण का विषय है।उसके बाद ही इसे लागू किया जा सकता है।मंत्री के उत्तर से असंतुष्ट विपक्षी कांग्रेस ने सदन से बहिर्गमन कर दिया।

विधानसभा में आज प्रश्रकाल के दौरान कांग्रेस विधायक भूपेश बघेल ने साफ कहा कि सरकार लोगों के स्वास्थ्य की कीमत पर पैसा कमा रही है।उन्होंने पूछा कि बीयर का लैंडिंग प्राइज 40 रुपए है और इसे 110 से 130 रूपए में बाजार में बेचा जा रहा है। बीयर की बिक्री से प्राप्त आय एवं अलग-अलग ब्रांड की बिकी की मात्रा की जानकारी भी मांगी।

आबकारी मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि बीयर के ब्रांड अलग-अलग है और खरीदी मूल्य एवं बिक्री मूल्य में लाइसेंस एवं ड्यूटी टैक्स लगने के बाद रेट बढ़ता है। दरों में अंतर तकनीकी कारणों से है। गत वर्ष 2016-17 में बीयर की बिक्री से 197.52 करोड़ रूपए का राजस्व प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा 250 बार जो हाइवे पर थी उनकी संख्या अब घटकर 125 हो गई है, इसलिए खपत कम दिख रही है।

विधायक भूपेश बघेल ने कहा कि पहली बार सुन रहे है कि कोचिया बीयर भी बेचते थे। उन्होंने पूछा कि दो कंपनियों के ब्रांडेड बीयर ही 80 से 90 प्रतिशत क्यों बिक रही है ? उन्होंने सिम्बा और सूमो ब्रांड के बियर की बिक्री दूसरे ब्रांड के बीयर की तुलना में कितनी प्रतिशत है? जवाब में अमर अग्रवाल ने कहा कि मैंने तीन साल का रिकॉर्ड दे दिया है आप प्रतिशत निकाल लें।