Friday , May 20 2022
Home / MainSlide / पुलिस परिजनों का दमन आलोकतांत्रिक – कांग्रेस

पुलिस परिजनों का दमन आलोकतांत्रिक – कांग्रेस

रायपुर 25 जून।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने पुलिस परिजनों की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करते हुये इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया है।

श्री बघेल ने आज यहां जारी बयान में कहा कि सरकार के खिलाफ लगातार हो रही विरोध प्रदर्शन से घबराकर और बौखलाहट में मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह लोकतंत्र में मिली अभिव्यक्ति की आजादी का हनन कर रहे हैं।प्रदेश में 14 साल से अधिक समय से सरकार चला रही भारतीय जनता पार्टी अपनी राजनैतिक विचार शक्ति खोकर प्रजातंत्र को नुकसान पहुंचा रही है।

उन्होने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से अपनी मांगों के लिये प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों ने आंदोलन की घोषणा एक महिने पहले से की थी। सत्ता के अहंकार में डूबी भारतीय जनता पार्टी सरकार ने एक बार भी इन पुलिस परिजनों की परेशानियों उनकी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार नहीं किया। सरकार में बैठे हुये लोगों में इतनी भी राजनैतिक सूझ-बूझ नहीं थी कि वे उनसे बातचीत करते इस आंदोलन को रोकते और समस्या का राजनैतिक प्रशासनिक हल ढूंढ पाते।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि रमन सरकार ने शांतिपूर्ण आंदोलनों को कुचलने के लिये बल प्रयोग, धमकी, गिरफ्तारी, बर्खास्तगी जैसे रास्तों को अपनाया जो कि लोकतंत्र में सर्वथा अस्वीकार्य है। आधी रात को पुलिस के परिजनों को सरकारी आवास से खदेड़ा गया। उनके वृद्ध माता-पिता, बच्चों  को डराया गया। सेवा से बर्खास्त करने की कार्यवाही की गयी। पुलिसकर्मियों से जबर्दस्ती शपथपत्र हस्ताक्षर करवाया गया।