Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / नौजवान पीढ़ी पर गणतंत्र कायम रखने की जिम्मेदारी – राज्यपाल श्री टंडन

नौजवान पीढ़ी पर गणतंत्र कायम रखने की जिम्मेदारी – राज्यपाल श्री टंडन

रायपुर 26 जनवरी।छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने कहा हैं कि वामपंथी उग्रवादी संविधान और लोकतंत्र का सम्मान करें और हथियार डाल दें, तो उनसे वार्ता के रास्ते भी खुले हुए हैं, लेकिन किसी भी हालत में हिंसा और संविधान विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

श्री टंडन ने आज यहां राजधानी में पुलिस परेड ग्राउंड में 69 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित मुख्य समारोह में झंडारोहण किया, परेड का निरीक्षण किया, सलामी ली और उसके बाद जनता को संबोधित करते हुए यह विचार व्यक्त किए।

राज्यपाल ने कहा कि देश की आजादी को सलामत रखने की जिम्मेदारी आम जनता विशेष कर हमारी नौजवान पीढ़ी पर है। जिस किसी देश की नौजवान पीढ़ी, देशभक्ति और देश सेवा की भावना से ओतप्रोत होती है वह देश, पूरी दुनिया में किसी भी मामलों में पीछे नहीं रहता। उन्होंने कहा कि हम जिस स्थान पर भी कार्य करते हैं वहां पर अपने कर्तव्यों का पूर्णतः पालन कर भी देशभक्ति प्रदर्शित कर सकते हैं।

श्री टंडन ने कहा कि गणतंत्र की मजबूती के लिए राज्य शासन द्वारा अनेक सराहनीय कदम उठाए गए हैं। एकात्म मानववाद तथा अन्त्योदय के प्रणेता पं.दीनदयाल उपाध्याय के सपनों को साकार करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार पूरी तरह संकल्पबद्ध है और प्रदेश सरकार के ऐसे विशेष प्रयासों से समाज के अंतिम तबके के अंतिम व्यक्ति का सशक्तीकरण अर्थात् ‘अन्त्योदय’ हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सभी नागरिकों को खाद्य सुरक्षा और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान की जा रही है।

उन्होने कहा कि किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की अच्छी व्यवस्था, बोनस का भुगतान तथा विभिन्न योजनाओं से किसानों के स्वावलंबन में मदद मिली है। इस वर्ष शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर 38 सौ करोड़ रूपए कृषि ऋण वितरण का बड़ा लक्ष्य रखा गया है, जिसमें से लगभग 33 सौ करोड़  रूपए के कृषि ऋण का उठाव अभी तक हो चुका है।