Tuesday , November 30 2021
Home / MainSlide / नोटबंदी के बाद देश साफ-सुथरी,पारदर्शी वित्त व्यवस्था की ओर बढ़ा – जेटली

नोटबंदी के बाद देश साफ-सुथरी,पारदर्शी वित्त व्यवस्था की ओर बढ़ा – जेटली

नई दिल्ली 07नवम्बर।वित्‍तमंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि नोटबंदी के बाद देश ज्‍यादा साफ-सुथरी,पारदर्शी और ईमानदार वित्‍त व्‍यवस्‍था की ओर बढ़ा है।

श्री जेटली ने आज लिखे फेसबुक पोस्‍ट में कहा कि आयकर विभाग ने वर्ष 2015-16 के मुकाबले इस वर्ष दो गुना से अधिक नकदी जब्‍त की है।छापों के दौरान लगभग साढ़े 15 हजार करोड़ रूपये की अघोषित आय का पता चला है जो वर्ष 2015-16 के मुकाबले 38 प्रतिशत अधिक है।श्री जेटली ने कहा कि वर्ष 2016-17 में सर्वेक्षण के दौरान 13 हजार सात सौ करोड़ रूपये की अघोषित आय पकड़ी गई है जो पिछले वर्ष पकड़ी गई राशि से 41 प्रतिशत अधिक है।

वित्‍त मंत्री ने कहा कि अभी कुछ लोगों को इनके लाभ दिखाई नहीं दे रहे है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि 8 नवंबर, 2016 भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के इतिहास में एक ऐतिहासिक दिन के रूप में याद किया जाएगा। यह दिन काले धन जैसे खतरनाक रोग से देश को मुक्‍त कराने के लिए सरकार के संकल्‍प का प्रतीक है।

श्री जेटली ने कहा कि नोटबंदी का अहम उद्देश्‍य कम नकदी की अर्थव्‍यवस्‍था वाला देश बनाना और व्‍यवस्‍था में काले धन के प्रवाह को कम करना था।वित्‍तमंत्री ने कहा कि आयकर विभाग ने एक हजार से अधिक फर्जी कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की है। उन्‍होंने कहा कि साढ़े चार सौ से अधिक कंपनियों की मान्‍यता समाप्‍त कर दी गई है और उन कंपनियों को चलाने वालों के खातों पर रोक लगा दी गई है।

श्री जेटली ने कहा कि नोटबंदी के असर से जम्‍मू कश्‍मीर में पथराव की घटनाओं और वाम उग्रवाद से प्रभावित इलाकों में नक्‍सली गतिविधियों में काफी कमी आई है।वित्‍तमंत्री ने दावा किया कि नोटबंदी पूरी तरह सफल रही है। इंडिया टुडे कॉनक्‍लेव में श्री जेटली ने कहा कि नोटबंदी की पहल को अलगाव के रूप में नहीं जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि  सरकार के हर काम में प्रौद्योगिकी की अहम भूमिका है।