Thursday , December 2 2021
Home / खास ख़बर / देश ने आज मनाया 71वां स्वतन्त्रता दिवस

देश ने आज मनाया 71वां स्वतन्त्रता दिवस

नई दिल्ली 15 अगस्त।देश ने आज 71वां स्‍वतन्‍त्रता दिवस मनाया।मुख्‍य समारोह राष्‍ट्रीय राजधानी में लालकिले पर आयोजित किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने लालकिले की प्राचीर से राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया।

श्री मोदी ने इस मौके पर राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि 2022 तक न्‍यू इंडिया के लिए एकजुट होकर दृढ़ता से प्रयास करने का संकल्‍प लेना होगा। इसमें हर गरीब के पास अपना घर होगा और सबको बिजली और पानी उपलब्‍ध होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि नया संकल्‍प न्‍यू इंडिया का आधार है।

उन्होने कहा कि हमारी सामूहिक संकल्प शक्ति, हमारा सामूहिक पुरूषार्थ, हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता, उन महान देश भक्तों को याद करते हुए परिश्रम की परकाष्ठा 2022 में आजादी के दीवानों के सपनों के अनुरूप भारत बनाने के लिए काम आ सकती है और इसलिए न्यू इंडिया का एक संकल्प लेकर के हमें देश को आगे बढ़ाना है।

श्री मोदी ने कहा कि कश्‍मीर मुद्दे का समाधान गोली या गाली से नही बल्‍कि हर कश्‍मीरी को गले लगाकर हो सकता है।उन्होने कहा कि देश की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। उन्‍होंने कहा कि जब सर्जिकल स्‍ट्राइक हुई तो दुनिया को हमारा लोहा मानना पड़ा।उन्होने कहा कि बलिदान के परकाष्ठा करने में यह हमारे वीर कभी पीछे नहीं रहे हैं। जहां लेफ्ट एक्सट्रिजिम में हो, चाहे आतंकवाद हो, चाहे इन्फिल्ट्रेशन हो हमारे देश के यूनीफॉम में रहने वाले लोगों ने बलिदान की परकाष्ठा की है और जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई दुनिया को हमारा लोहा मानना पड़ा।

उन्होने कहा कि भारत विश्‍व समुदाय के साथ मिलकर आतंकवाद से लड़ रहा है।आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में आज हम केवल नहीं है दुनिया के कई देश हमें सक्रिय रूप से मदद कर रहे हैं। आतंकवादियों की गतिवि‍धियों के संबंध में विश्‍व हमें जानकारियां दे रहा है।हम विश्‍व के साथ कंधे से कंधा मिलाकर के आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। जो देश इस काम में हमे भली भांति मदद कर रहे हैं। भारत की साथ का गौरव बढ़ा रहे हैं और यही वैश्विक हमारे समन भारत की शांति और सुरक्षा में भी एक नया आयाम दे रहे है एक नया बल दे रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में कोई नरमी नहीं बरती जाएगी। नोटबंदी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद तीन लाख करोड़ रूपये से अधिक की बेहिसाब राशि बैंकों में जमा की गई। उन्‍होंने कहा कि अघोषित सम्‍पत्ति के मामले में 18 लाख से अधिक लोग जांच के दायरे में हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्‍टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि पहले नारा था भारत छोड़ो आंदोलन अब नारा है भारत जोड़ो आंदोलन।

उन्होने कहा कि देश शांति, एकता और सद्भावना से चलता है। जातिवाद का जहर, सांम्‍प्रदायवाद का जहर देश का कभी भला नहीं कर सकता है। सबको साथ ले करके चलना यह इस देश की संस्कृती और परम्‍परा का हिस्‍सा है और इसलिए मैं देशवासियों से आग्रह करूंगा। उस समय भारत छोड़ो का नारा था, आज नारा है भारत जोड़ो। समाज के हर तबके को साथ लेना है और उसी को ले करके हमें देश को आगे बढ़ाना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जी. एस. टी. का लागू होना सहकारी संघवाद का महत्‍वपूर्ण उदाहरण है। उन्‍होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं के बीच हमारे किसानों ने फसल का रिकार्ड उत्‍पादन किया है।उन्होने कहा कि किसान को अगर पानी मिले तो मिट्टी में से सोना पैदा करने की ताकत रखता है और इसलि‍ए किसान को पानी पहुंचाने के लिए मैंने पिछली बार लालकिले से कहा था। उन योजनाओं में से 21 योजनाएं हम पूर्ण कर चुके हैं और बाकी 50 योजनाएं आने वाले कुछ समय में पूर्ण हो जाएगी और टोटल 99 योजनाओं का मैंने संकल्‍प लिया है। 2019 से पहले उन 99 बड़ी-बडी योजनाएं परिपूर्ण करके किसान के खेत तक पानी पहुंचाने का काम हम पूर्ण कर देंगे।