Thursday , December 9 2021
Home / छत्तीसगढ़ / दमनात्मक रवैये से किसानों का आक्रोश और बढ़ेगा भाजपा सरकार के खिलाफ-भूपेश

दमनात्मक रवैये से किसानों का आक्रोश और बढ़ेगा भाजपा सरकार के खिलाफ-भूपेश

रायपुर 21 सितम्बर।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने किसानों के आक्रोश को दमनात्मक तरीके से दबाने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे नाराजगी और बढ़ेगी और किसान वक्त पर रमन सरकार को इसका करारा जवाब देंगे।

श्री बघेल ने आज यहां कांग्रेस भवन में कुछ पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राज्य में बहुत विपरीत स्थिति उत्पन्न हो गयी है।आज तक यहां ऐसा कभी नहीं हुआ है कि राज्य के विभिन्न जिलों में 144 धारा लगा दी जाय।अंबिकापुर(सरगुजा) में दो साल से 144 धारा लगा दी गई है।गांव-गांव में मुनादी कर लोगों को किसान आंदोलन में शामिल नहीं होने की चेतावनी दी जा रही है।राजनांदगांव जो मुख्यमंत्री का निर्वाचन जिला है,पिछले आठ दिनों से 144 धारा लगी हुई है।

उन्होने आरोप लगाया कि महासमुंद, धमतरी, गरियाबंद, दुर्ग जिले में किसानों को राजधानी आने से रोकने के लिये 144 धारा लगाकर किसानों को उनके घरों में ही नजरबंद/जेल में बंद करके अभिव्यक्ति की आजादी एवं उनके संवैधानिक अधिकारों को कुचलने का प्रयास किया जा रहा है।श्री बघेल ने कहा कि कितनी दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि भाजपा के लोग सूखे की घोषणा होने पर खुशियां मना रहे है, फटाखे फोड़ रहे है,जबकि किसान दाने-दाने के लिये मोहताज हो रहा है।

श्री बघेल ने कहा कि कल कांग्रेस द्वारा चार साल के 2100 रू. समर्थन मूल्य एवं तीन साल के 300 रू. बोनस का लगभग 25 हजार करोड़ की पैकेज की किसानों को तत्काल दिये जाने की घोषणा को लेकर विधानसभा घेराव की तैयारी की जा रही है।सरकार द्वारा इस आंदोलन को दबाने का एवं कुचलने का हर स्तर पर प्रयास जारी है। रमन सरकार आंदोलन को जितना दबाने की कोशिश करेंगे उतना ही किसानों का आक्रोश सरकार के खिलाफ भड़केगा और हम पुरजोर तरीके से किसान विरोधी मानसिकता से ग्रस्त सरकार के खिलाफ आंदोलन करते रहेगे। किसानों की लड़ाई हर स्तर पर लड़ी जायेगी।

उन्होने कहा कि कल के किसान आंदोलन में शामिल होने छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, सचिव द्वय कमलेश्वर पटेल एवं अरूण उरांव आ रहे है।आंदोलन जबर्दस्त होगा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सहित सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भारी संख्या में शामिल होंगे।