Sunday , May 29 2022
Home / MainSlide / तेजिन्दर गगन के निधन पर रमन ने जताया शोक

तेजिन्दर गगन के निधन पर रमन ने जताया शोक

रायपुर 12जुलाई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के वरिष्ठ साहित्यकार और दूरदर्शन के पूर्व उप महानिदेशक तेजिन्दर सिंह गगन के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।श्री गगन का कल रात यहां दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

डा.सिंह ने आज यहां जारी शोक संदेश में कहा कि स्वर्गीय श्री गगन राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वरिष्ठ कवि और उपन्यासकार थे।उन्होने कहा कि साहित्य के क्षेत्र में श्री गगन के सराहनीय योगदान पर छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उन्हें वर्ष 2014 के राज्योत्सव के अवसर पर एक नवम्बर को नया रायपुर में आयोजित समारोह में ’पंडित सुन्दरलाल शर्मा राज्य अलंकरण’ से सम्मानित किया गया था।

उन्होंने कहा कि श्री गगन का आकस्मिक निधन हम सबके लिए और राज्य तथा देश की साहित्यिक बिरादरी के लिए अपूरणीय क्षति है।उन्होने ’वह मेरा चेहरा’ और ’सीढ़ियों पर चीता’ जैसे प्रसिद्ध उपन्यासों के लेखक श्री गगन ने अपनी अनेक महत्वपूर्ण पुस्तकों के माध्यम से हिन्दी साहित्य जगत में छत्तीसगढ़ का नाम रौशन किया।उन्होंने मानवीय संवेदनाओं पर आधारित अपनी विभिन्न रचनाओं के जरिए देश और समाज की अनेक गंभीर समस्याओं को रेखांकित किया और जनता को उन पर चिंतन करने और समाज को सही दिशा में चलने की प्रेरणा दी।

स्वर्गीय श्री गगन के साथ अपने वर्षों पुराने आत्मीय संबंधों को याद करते हुए डा.सिंह ने कहा कि दूरदर्शन के रायपुर केन्द्र में और अन्य कई कार्यक्रमों में उनसे मेरी मुलाकात होती रहती थी। वह अत्यंत सौम्य और सहज-सरल स्वभाव के थे।  मुख्यमंत्री ने उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की है और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

ज्ञातव्य है कि श्री गगन ने पत्रकार के रूप में अपना कैरियर शुरू किया था। बाद में उन्होंने आकाशवाणी रायपुर और अम्बिकापुर सहित दूरदर्शन के रायपुर, सम्बलपुर, नागपुर, देहरादून, चेन्नई और अहमदाबाद केन्दों में विभिन्न पदों पर वर्षों तक अपनी सेवाएं दी और दूरदर्शन के उप महानिदेशक के पद से अपने गृह नगर रायपुर में ही सेवानिवृत्त हुए।