Sunday , December 5 2021
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ के जनजीवन में दिखाई दे रही गणतंत्र की महत्ता – रमन

छत्तीसगढ़ के जनजीवन में दिखाई दे रही गणतंत्र की महत्ता – रमन

जगदलपुर 26 जनवरी।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि राज्य में गणतंत्र की महत्ता की संविधान की किताबों में खोजना नहीं पड़ता हैं,बल्कि यह नागरिकों के सशक्तिकरण के माध्यम से उनके जनजीवन में दिखाई दे रहा है।

डॉ.सिंह ने आज यहां  गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी लेने के बाद  लोगो को सम्बोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए।उन्होंने राज्य की सौगात देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटलबिहारी बाजपेयी और ’एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ तथा नये भारत का लक्ष्य देने वाले प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया। डॉ. सिंह ने देश की आजादी की लड़ाई में वीर सपूतों के योगदान को भी याद किया।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री  ने जीएसटी और नई खनिज नीति लागू की तथा राज्यों के वित्तीय संसाधनों में अभूतपूर्व वृद्धि करके संविधान की मंशा ’ सहकारी संघवाद’ का सम्मान किया है।उन्होंने राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं और उपलब्धियों की जानकारी देते हुए कहा कि अगले पांच माह के भीतर पांच लाख घरों में बिजली पहुंचाने के लक्ष्य का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सहज बिजली-हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत इस वर्ष सितम्बर माह तक शेष पांच लाख घरों में भी बिजली पहुंचा दी जाएगी।

उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री ऊर्जा प्रवाह योजना के माध्यम से 306 नये विद्युत उपकेन्द्रों का निर्माण किया जा रहा है। इनमें से 36 का लोकार्पण भी कर दिया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 32 हजार किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति मिली थी। इसमें से 27 हजार किलोमीटर सड़क का निर्माण पूरा हो चुका है। राज्य के विभिन्न स्थानों और प्रमुख शहरों के बीच नॉन-स्टॉप तीव्र गति ए.सी. बस सेवा शीघ्र शुरू की जाएगी, जिसके लिए 18 प्रमुख मार्गों का चयन किया गया है।प्रदूषणमुक्त  परिवहन को बढ़ावा देने के लिए ई-रिक्शा, ई-कार्ट वाहनों को 5 वर्षों के लिए शत-प्रतिशत करमुक्त किया गया है।

डा.सिंह ने कहा कि लम्बे समय तक छत्तीसगढ़ का एकमात्र हवाई अड्डा माना-रायपुर में ही रहा है, लेकिन हमने विमानन अधोसंरचना का विस्तार अंबिकापुर, जगदलपुर, बिलासपुर, बलरामपुर, जशपुर में भी किया है। बीजापुर, दंतेवाड़ा में हवाई पट्टी का निर्माण किया तथा कोण्डातराई (रायगढ़) में हवाई पट्टी का उन्नयन प्रस्तावित है।रीजनल कनेक्टिविटी ‘उड़ान’ योजना के लिए अंबिकापुर तथा रायगढ़ को अधिसूचित किया जा चुका है। हमारा प्रयास है कि रायपुर-जगदलपुर-अंबिकापुर के बीच सस्ती विमान सेवा शीघ्र प्रारंभ हो जाए।

डॉ.सिंह ने कहा कि किसानों को अपनी उपज का बेहतर दाम दिलाने के लिए प्रदेश की 14 मण्डियों को राष्ट्रीय कृषि बाजार ‘ई-नाम’ से जोड़ा जा चुका है। ताजे फल तथा सब्जियों के लिए धमतरी में ‘किसान उपभोक्ता बाजार’ का प्रयोग सफल रहा है, जिसके आधार पर 6 अन्य स्थानों पर ऐसे बाजार विकसित किए जा रहे हैं, जिससे उपज, क्रेता तथा विक्रेता के बीच से बिचौलियों को हटाया जा सके।उन्होने कहा कि हमने धान, मक्का, गन्ना खरीदी समर्थन मूल्य पर करने की व्यवस्था की है। सर्वाधिक धान खरीदी और तुरन्त भुगतान का कीर्तिमान बनाया है। धान तथा तेन्दूपत्ता पर बोनस दिया है। आगामी वर्ष के लिए भी बोनस की घोषणा कर दी गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत राज्य के समस्त 168 नगरीय निकायों तथा 18 हजार 851 गांवों को ओ.डी.एफ. घोषित किया जा चुका है। इसके साथ ही शेष कार्य 2 अक्टूबर 2018 के पहले पूरा करने का लक्ष्य है। जिला, विकासखण्ड व ग्राम पंचायत स्तर पर ओ.डी.एफ. ‘स्थायित्व अवार्ड’ शुरू किया जा रहा है।

डा.सिंह ने कहा कि नक्सलवाद का एक बड़ा कारण, दुर्गम अंचलों में संचार साधनों का अभाव था, जिसमें बस्तर का सीमावर्ती हिस्सा ज्यादा ही प्रभावित हुआ, लेकिन सुरक्षा, विकास और संचार के नए उपायों से बस्तर में बची-खुची नक्सलवादी गतिविधियां भी जल्दी समाप्त हो जाएंगी। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने वामपंथी उग्रवाद के विरूद्ध लड़ाई को वैचारिक और संसाधनों की शक्ति दी, जिससे छत्तीसगढ़ को अपूर्व संबल मिला है तथा निर्णायक पथ-प्रशस्त हुआ है।