Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा से होता है गर्व-तोमर

छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा से होता है गर्व-तोमर

रायपुर 26 अक्टूबर।केन्द्रीय पंचायत राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र तोमर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की डिजिटल इंडिया अभियान के तहत छत्तीसगढ़ में बड़ी तेजी से ठोस कदम उठाए गए हैं। डिजिटलाईजेशन का प्रभाव छत्तीसगढ़ के गांवों में स्पष्ट रूप से दिखायी देने लगा है।

श्री तोमर आज निमोरा स्थित ठाकुर प्यारे लाल राज्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान में आयोजित ’ग्रामीण विकास उत्सव’ को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समारोह की अध्यक्षता की। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर समारोह में विशेष रूप से उपस्थित थे।

ग्रामीण विकास उत्सव में प्रदेश के स्व-सहायता समूहों की पांच बैंक सखियों को माइक्रो एटीएम, पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल विकास योजना के तहत दस युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने का नियुक्ति पत्र तथा खुले में शौचमुक्त घोषित 17 जनपद पंचायतों के प्रतिनिधियों को सम्मान पत्र वितरित किया गया। इस अवसर पर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कारिणी की परिषद द्वारा प्रकाशित काफी टेबल बुक ’मुस्कुराती जिन्दगी-संवरते गांव’ और छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की पुस्तिका ’ग्राम समृद्धि एवं स्वच्छता पखवाड़ा’ का विमोचन हुआ।
केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने अपने उद्बोधन में आगे कहा कि छत्तीसगढ़ के नवनिर्माण में गांवों की बेटियों का महत्वपूर्ण योगदान है। गांवों की प्रतिभावान बेटियां स्व-सहायता समूह से जुड़कर अन्य जरूरतमंद महिलाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने और उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाने की दिशा में काम कर रही हैं।

राज्य के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव एम.के. राउत ने स्वागत उद्बोधन में बताया कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत छत्तीसगढ़ की 9800 ग्राम पंचायत, 17 हजार 352 गांव, 120 विकासखण्ड और 15 जिले खुले में शौचमुक्त हो चुके हैं। इसके लिए आम नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, स्वच्छता प्रेरकों और अधिकारियों-कर्मचारियों ने सराहनीय कार्य किया है। उज्जर सुग्घर-हमर छत्तीसगढ़ के निर्माण में सभी ने सहभागिता दी है।

इस अवसर पर केन्द्रीय पंचायत राज मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री के.एस. सेठी, राज्य शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री पी.सी. मिश्रा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।