Saturday , May 28 2022
Home / MainSlide / कांग्रेस कार्यकारिणी है या मीना बाजार-भाजपा

कांग्रेस कार्यकारिणी है या मीना बाजार-भाजपा

रायपुर 15 सितम्बर।छत्तीसगढ़ कांग्रेस की भारी भरकम कार्यकारिणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रदेश महामंत्री संतोष पाण्डेय ने सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस ने कार्यकारिणी बनाई है या फिर मीना बाजार भरा है।

श्री पाण्डेय ने आज यहां जारी बयान में कहा कि कांग्रेस की इस कार्यकारिणी में 331 पदाधिकारी हैं और अध्यक्ष मिलाकर 332 लोग कांग्रेस को चलाएंगे या अलग-अलग दिशाओं में खींच कर उसका बचा खुचा संतुलन भी बिगाड़ देंगे? कहा जा सकता है कि श्री भूपेश बघेल इस मीना बाजार के मौत का कुंआ में बाइक चलाने का करतब दिखाने का काम करेंगे।

उन्होने कहा कि यह कमाल की कार्यकारिणी है। कांग्रेस में किस कदर खींचतान मची हुई है, इसका अंदाज इससे ही लगाया जा सकता है कि 11 उपाध्यक्ष इसके दुगुने महासचिव बनाने के बावजूद संयुक्त महासचिव के 32 नये पद सृजित कर डाले। इतने पर भी संतुष्टि नहीं हुई तो 134 सचिवों और 46 संयुक्त सचिव की नियुक्ति की गई। सात सदस्यों 18 स्थाई आमंत्रितों के साथ ही 61 विशेष आमंत्रित सदस्यों वाली यह कार्यकारिणी बता रही है कि डूब रहे जहाज में इतने सवार चढ़ा लिये गये हैं कि वह ऐसा डूबे कि 50 साल तक खोजने पर भी नजर न आये।

श्री पाण्डेय ने कहा कि कांग्रेस की इस कार्यकारिणी ने यह भी झलक दिखला दी है कि कांग्रेस में टिकटों को लेकर किस तरह महाभारत छिड़ी है और उसी के मद्दे नजर हर एक विधानसभा सीट पर 3-4 पदाधिकारियों की औसतन नियुक्ति का रास्ता निकाला गया है। सवाल तो यह है कि अब कांग्रेस में जब सारे के सारे लोग संचालक बन गये हैं तो वहां पार्टी का काम करने वाले कार्यकर्ता कहां से लाएंगे।