Monday , January 17 2022
Home / MainSlide / कर्नाटक में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किए जाने के मद्देनजर गतिविधियां तेज

कर्नाटक में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किए जाने के मद्देनजर गतिविधियां तेज

बेंगलुरू 14 जुलाई।कर्नाटक में राज्य विधानसभा में कल विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किए जाने से पहले राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं।

मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारास्वामी की विधानसभा में विश्वासमत प्राप्त करने की आश्चर्यजनक घोषणा के एक दिन बाद सत्तारूढ़ गठबंधन ने 16 विद्रोही विधायकों के साथ सम्पर्क करने की कोशिशें तेज कर दी हैं।कर्नाटक के कांग्रेस नेताओं ने कल राज्य के आवास मंत्री और होसकोटे के विधायक एम.टी.बी. नागराज को मनाने के लिए लम्बी बैठक की। पिछले सप्ताह नागराज ने विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र दिया था।

श्री नागराज ने हालांकि कहा कि उन्हें अपना त्यागपत्र वापस लेने का फैसला करने में समय लगेगा। उन्होंने चार अन्य विधायकों के साथ मिल कर अपने त्यागपत्र स्वीकार न करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की है।रामलिंग रेड्डी ने अब कहा है कि वे सोमवार को विधानसभा सत्र में भाग लेंगे और अपने त्यागपत्र के बारे में विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात करेंगे।

सूत्रों के अनुसार गठबंधन सरकार तभी बच सकती है जबकि कम से कम छह बागी विधायक अपने इस्तीफे वापस ले।आज भी कांग्रेस नेता बागी विधायकों का मन-परिवर्तन की कोशिश जारी रखेंगे। उनको उम्मीद है कि एम टी बी नागराज और रामलिंगा रेड्डी उनको समर्थन दे।

इस बीच आज मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद बेंगलूरु पहुंच रहे हैं। बीजेपी एक सौ सात विधायकों के समर्थन के साथ उम्मीद बनाए हुए है कि मंगलवार को सभाध्यक्ष को निर्देश दे कि वह इस्तीफे का नतीजा जल्द से जल्द ले। विश्वास मत सोमवार को ही रखने की मांग भी वो रख रहे हैं।