Thursday , December 9 2021
Home / MainSlide / उपराष्ट्रपति ने की दंतेवाड़ा में हो रही जैविक खेती की तारीफ

उपराष्ट्रपति ने की दंतेवाड़ा में हो रही जैविक खेती की तारीफ

हैदराबाद/रायपुर 08 दिसम्बर।उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने छत्तीसगढ़ के नक्सल हिंसा पीड़ित दंतेवाड़ा जिले में रमन सरकार द्वारा किसानों को जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किए जाने की प्रशंसा की है।
श्री नायडू से आज हैदराबाद में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में दंतेवाड़ा के 400 प्रगतिशील किसानों और महिला स्व-सहायता समूहों के प्रतिनिधि मंडल ने सौजन्य मुलाकात की। केन्द्रीय मंत्री चौधरी वीरेन्द्र सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे। राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (एनएमडीसी) के हीरक जयंती समारोह के अवसर पर उपराष्ट्रपति ने दंतेवाड़ा के इन किसानों और महिला स्व-सहायता समूहों से उनकी खेती-किसानी आदि के बारे में बातचीत की। इस दौरान उन्होंने दंतेवाड़ा को एनएमडीसी द्वारा प्रदत्त शहद प्रसंस्करण मशीन को भी देखा।
डा.सिंह ने श्री नायडु को बताया कि इस मशीन से अब शहद निकालने का कार्य आसानी से होगा और उपभोक्ताओं को शुद्ध और स्वादिष्ट जैविक शहद मिल सकेगी। किसान इस शहद को जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा के जैविक मार्ट (आर्गेनिक मार्ट) में लाकर बेच सकेंगे। दंतेवाड़ा के इस प्राकृतिक शहद को न सिर्फ छत्तीसगढ़, बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी अच्छा बाजार मिलेगा। इससे आदिवासी किसानों की आमदनी बढ़ेगी और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा। उपराष्ट्रपति ने इसके लिए मुख्यमंत्री डॉ. सिंह और दंतेवाड़ा के किसानों के प्रतिनिधि मंडल को बधाई दी।
श्री नायडु ने इस मौके पर दंतेवाड़ा जिले की विकास गतिविधियों पर प्रकाशित काफी टेबल पुस्तिका का भी विमोचन किया। इसमें शासकीय योजनाओं और जनभागीदारी से लोगों की जिन्दगी में आ रहे बदलाव की कहानियों को प्रस्तुत किया गया है।