Saturday , May 21 2022
Home / MainSlide / उत्तरप्रदेश की दो तथा बिहार की एक लोकसभा सीट पर हुए उप चुनाव में भाजपा को शिकस्त

उत्तरप्रदेश की दो तथा बिहार की एक लोकसभा सीट पर हुए उप चुनाव में भाजपा को शिकस्त

नई दिल्ली/लखनऊ/पटना 14 मार्च।उत्तर प्रदेश में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों एवं बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर विपक्षी दलों के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज कर भारतीय जनता पार्टी को करारा झटका दिया है।

चुनाव परिणामों ने केन्द्र की मोदी सरकार को 2019 के चुनावों को पहले जहां इन बड़े हिन्दी राज्यों में भाजपा उम्मीदवारों को मिली शिकस्त ने बेचैन कर दिया है,वहीं उत्तरप्रदेश की योगी सरकार एवं बिहार की नीतीश कुमार की भाजपा गठबंधन सरकार को भी हिलाकर रख दिया है।

उत्तरप्रदेश की फूलपुर एवं गोरखपुर दोनो सीटों पर हुए उप-चुनाव में समाजवादी पार्टी ने दोनों सीटें जीत ली हैं।फूलपुर में पार्टी उम्मीदवार नागेन्द्र सिंह पटेल ने भाजपा के कौशलेन्द्र सिंह पटेल को 59 हजार से ज्यादा वोटों से हराया।गोरखपुर में प्रवीण निषाद ने भाजपा के उपेन्द्र शुक्ला को लगभग 22 हजार वोटों से हराकर जीत दर्ज की।

समाजवादी पार्टी ने उपचुनाव बहुजन समाज पार्टी के समर्थन के साथ लड़ा था। निषाद पार्टी और पीस पार्टी ने भी समर्थन देने की घोषणा की थी।भारतीय जनता पार्टी को गोरखपुर सीट पर लगभग 29 वर्षों के बाद हार का सामना करना पड़ा है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ इस सीट से लगातार पांच बार सांसद रहे हैं। फूलपुर सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने पहली बार पिछले संसदीय चुनाव में जीत दर्ज की थी जहां उपमुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य विजयी हुई थे।

बिहार में अररिया लोकसभा उप-चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल उम्मीदवार सरफराज आलम विजयी रहे हैं।राज्य में विधानसभा की दो सीटों के लिए हुए उप-चुनाव में भाजपा ने भभुआ और राष्‍ट्रीय जनता दल  ने जहानाबाद सीट जीती हैं।

उपचुनाव में भाजपा और राजद ने अपनी-अपनी सीटें बरकरार रखी हैं। अररीय लोकसभा सीट पर राजद उम्‍मीदवार सरफराज आलम ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्‍दी भाजपा के प्रदीप कुमार सिंह को 57 हजार से अधिक मतों से पराजित किया।वहीं जहानाबाद विधानसभा सीट पर भी राजद का कब्‍जा बरकरार रहा।पार्टी उम्‍मीदवार कुमार कृष्‍ण मोहन शुक्‍ल ने जदयु के अभिराम शर्मा को 35 हजार से अधिक वोटों के अंतर से हराया।इधर भभुआ विधानसभा सीट पर भाजपा की रिंकी रानी पाण्‍डेय ने कांग्रेस के सम्‍पत सिंह पटेल को 15 हजार से अधिक वोटों से पराजित किया।