Sunday , August 14 2022
Home / बाजार / अगर आप बैंको से अधिक रिटर्न चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में लगाएं पैसा, दस साल में दोगुना होगा पैसा

अगर आप बैंको से अधिक रिटर्न चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में लगाएं पैसा, दस साल में दोगुना होगा पैसा

अगर आप बैंक एफडी (Bank FD) की कम ब्याज दर और शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव से बचते हुए अपने पैसे पर बेहतर रिटर्न चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की सेविंग स्कीम्स (Post Office Saving Schemes) को जरूर आजमाएं। भारतीय डाक उन व्यक्तियों को निवेश के बेहतरीन अवसर प्रदान करता है जो पैसा लगाने के लिए एक सुरक्षित योजना में की तलाश में हैं। पोस्ट ऑफिस की योजनाएं उन लोगों के लिए बचत का एक बेहतरीन विकल्प हो सकती हैं जो ज्यादा जोखिम उठाना पसंद नहीं करते हैं। इंडिया पोस्ट की योजनाएं सरकार के समर्थन से चलाई जाती हैं, इसलिए वे अधिक सुरक्षित मानी जाती हैं। इसके अलावा इन योजनाओं में निवेश करने परआयकर की धारा 80सी के तहत कर में छूट भी मिलती है। ऐसी ही एक योजना है किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra- KVP)। इसे पहली बार 1988 में लॉन्च किया गया था। वर्तमान में इसमें 6.9 प्रतिशत की ब्याज दर मिलती है। आइए, हम आपको इस स्कीम के बारे में विस्तार से बताते हैं।
दस साल में दोगुना होगा पैसा इस बचत योजना में ब्याज दर 6.9 फीसद है। इसमें सालाना चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है। निवेश की गई राशि 10 साल और 4 महीने में दोगुनी हो जाती है। खाता खोलने के लिए आपको अधिक पैसा लगाने की जरूरत भी नहीं है। महज 1,000 रुपये से आप किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं। वहीं, पैसा लगाने की अधिकतम कोई सीमा नहीं है। कौन लगा सकता है पैसा इस योजना के तहत कितने भी खाते खोले जा सकते हैं। इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के अनुसार, इस योजना में ये लोग पैसा लगा सकते हैं- -कोई भी वयस्क इस योजना में अपना खाता खोल सकता है। -अधिकतम 3 वयस्क मिलकर संयुक्त खाता खोल सकते हैं। -नाबालिग या कमजोर दिमाग वाले व्यक्ति की ओर से कोई अभिभावक खाता खोल सकता है। -10 साल से ऊपर का एक नाबालिग भी अपने नाम पर खाता खोल सकता है। मच्योरिटी अवधि वर्तमान में इस योजना की परिपक्वता अवधि 124 महीनों की है, जबकि लॉक-इन पीरियड 30 महीने का है। आप चाहें तो मच्योरिटी से पहले भी केवीपी खाता बंद कर सकते हैं। एकल खाते में खाताधारक की मृत्यु पर या जॉइंट एकाउंट में किसी एक या सभी खाताधारकों की मृत्यु होने पर इस खाते को जब्त किया जा सकता है। किसी मामले में कोर्ट के आदेश पर भी यह खता बंद किया जा सकता है। इसके अलावा जमा करने की तारीख से 2 साल 6 महीने बाद भी आप खाता बंद कर सकते हैं। खाते का ट्रांसफर KVP को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को केवल निम्नलिखित शर्तों पर ट्रांसफर किया जा सकता है- (i) नॉमिनी/कानूनी उत्तराधिकारियों को खाताधारक की मृत्यु पर (ii) संयुक्त खाताधारकों को किसी एक खाता धारक की मृत्यु पर (iii) न्यायालय के आदेश पर (iv) किसी अधिकारी द्वारा खाता गिरवी रखने पर। लोन में आसानी अगर आप किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) में निवेश करते हैं तो KVP सर्टिफिकेट पर आपको लोन भी मिल सकता है। ऐसे लोन के लिए आपको ब्याज भी कम देना होगा।