Wednesday , July 17 2019
Home / MainSlide / भूपेश ने पत्रकारों को ज्यादा से ज्यादा अधिमान्यता की जरूरत बताई

भूपेश ने पत्रकारों को ज्यादा से ज्यादा अधिमान्यता की जरूरत बताई

बिलासपुर 17जून।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रियायती दर पर आवास दिलाने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि प्रदेश के पत्रकारों को अधिकाधिक संख्या में अधिमान्यता मिलनी चाहिए।

श्री बघेल ने आज यहां बिलासपुर प्रेस क्लब की नयी कार्यकारिणी के शपथ ग्रहण समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य के अनेक हिस्से नक्सल प्रभावित हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में भी अनेक पत्रकार निष्ठाभाव से काम कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कहीं भी बीमारी फैलती है, जंगल में आग लगती है, इसकी जानकारी हमें सबसे पहले मीडिया से ही मिलती है। मगर यह सूचना सामने लाने वाले पत्रकारों के पास अधिमान्यता नहीं है। जब उनके ऊपर कोई समस्या आती है तो बचाव के लिए उनके पास कोई प्रमाण नहीं होता है। हमारा मानना है कि अधिक संख्या में पत्रकारों को अधिमान्यता मिलनी चाहिए।

प्रेस क्लब की ओर से रखी गई मांगों पर श्री बघेल ने कहा कि रियायती आवास के लिए नियमों का परीक्षण किया जायेगा। इसके लिए वित्त विभाग को विषय विचार के लिए भेजा जायेगा, आवश्यक होने पर मंत्रिमंडल से भी स्वीकृति ली जायेगी और पत्रकारों को लाभान्वित अवश्य किया जायेगा।

श्री बघेल ने सरकार के निर्णयों की जानकारी देते हुए बताया कि अब पत्रकार सम्मान निधि योजना के तहत सेवानिवृत्त पत्रकारों को पांच हजार रुपये के स्थान पर 10 हजार रुपये प्रति माह पेंशन के रूप में सम्मान राशि दी जायेगी। पहले यह प्रावधान पांच वर्ष के लिए था, जिसे अब आजीवन प्रदान किया जायेगा। इसके अतिरिक्त पत्रकार कल्याण कोष के तहत चिकित्सा सुविधा के लिए पूर्व में 50 हजार रुपये तक अधिकतम स्वीकृति दी जाती थी, जिसे बढ़ाकर अब दो लाख रुपये कर दिये गए हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने कहा कि संविधान के तीन स्तंभों न्यायपालिका, कार्यपालिका और विधायिका के अलावा मीडिया चौथा स्तंभ है।सभी मिलकर कार्य करेंगे तो छत्तीसगढ़ को हम नई ऊंचाई तक पहुंचाएंगे। लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह ठाकुर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com