Wednesday , December 1 2021
Home / खास ख़बर / स्वच्छ भारत मिशन ने जन आन्दोलन का ले लिया हैं रूप – मोदी

स्वच्छ भारत मिशन ने जन आन्दोलन का ले लिया हैं रूप – मोदी

नई दिल्ली 02 अक्टूबर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ने कहा कि स्वच्छाग्रहियों की कार्यसिद्धि की भावना के कारण स्वच्छ भारत मिशन ने जन आन्दोलन का रूप ले लिया है।

श्री मोदी ने आज यहां स्वच्छ भारत मिशन की तीसरी वर्षगांठ पर आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूज्य बापू और लाल बहादुर शास्त्री की जन्मजयंती पर हम फिर एक बार अपने आपको देश को समर्पित करें। स्वच्छता को हम प्राथमिकता से लें। और यह स्वच्छता ऐसा काम है, कुछ नही कर सकता जो देश की सेवा के लिए और कुछ करने की ताकत नहीं रखता है, यह कर सकता है, इतना सरल काम है।

उन्होने कहा कि सवा सौ करोड़ भारतीयों के एकजुट होने से स्वच्छ भारत के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान अब आम आदमी का सपना बन गया है और बच्चे स्वच्छता का संदेश फैलाने वाले सबसे बड़े दूत बन गये हैं।उन्होने कहा कि..स्वच्छता होनी चाहिए, इसमें देश में किसी को मतभेद नहीं। समस्या यही रही कि कौन करे। लेकिन अगर सवा सौ करोड़ देशवासी आ जाएं तो देखते ही देखते सपना पूरा हो जाएगा..।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मिशन के कारण लोगों में एक सार्थक प्रतिस्पर्धा शुरू हुई है।जनभागीदारी को स्वीकार करके चले। सरकार को कम करते चले। समाज को बढ़ाते चलें तो यह आंदोलन कोई भी प्रश्न चिन्ह के बावजूद भी सफल होता ही जाएगा यह मेरा विश्वास है और मुझे विश्वास है आप देखिए पांच साल आते आते देश का मीडिया यह खबर नहीं छापेगा कि स्वच्छता में कौन काम कर रहा है कौन भाग ले रहा है। उनकी तस्वीरें छपने वाली हैं कि इससे कौन-कौन दूर भाग रहे थे।

उन्होने स्वच्छता ही सेवा अभियान में भागीदारी निभाने वाले सभी लोगों को बधाई दी। यह अभियान पिछले महीने की 15 तारीख को शुरू किया गया था। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे स्वच्छ भारत अभियान को जारी रखें।

स्वच्छ भारत मिशन को आज तीन वर्ष पूरे हो गये हैं। खुले में शौच की आदत से देश को मुक्ति दिलाने और 2019 तक स्वच्छता के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 में इस अभियान की शुरूआत की थी।