Sunday , November 28 2021
Home / MainSlide / सुकमा नक्सल हमले को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

सुकमा नक्सल हमले को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

नई दिल्ली 13 मार्च।।कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में माओवादियों द्वारा शक्तिशाली आईईडी विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के नौ जवानो के शहीद होने की घटना पर मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज यहां जारी बयान में शहीदों के परिवारजनों के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले साल भी सुकमा में भीषण हमला हुआ था, जहां 26 सीआरपीएफ के जवान शहीद हुये थे, लेकिन भाजपा सरकार ने उससे भी कोई सबक नहीं सीखा है।

उन्होने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के उद्देश्यहीन, अस्थिर और असंगत नीतियों का प्रत्यक्ष परिणाम भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा को उत्पन्न खतरे है। श्री मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा को सत्ता हासिल करने के लिए मुद्दा बनाने में कड़ी मेहनत की थी, लेकिन पिछले चार सालों में देश ने एक अनिश्चित सुरक्षा स्थिति ही देखी है। सीमा पार से युद्ध विराम का उल्लंघन, सीमा पार से घुसपैठ, हमारे सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर आतंकी हमलें और हमारे राज्यों में नक्सल हमलें कई गुना बढ़े हैं। खोखले दावे, नारेबाजी और नारेबाजी की प्रचार नीतिगत उपायों का विकल्प नहीं हो सकता। बयानबाजी और सुर्खियों का प्रबंधन केवल परिस्थिति को गंभीर बनाती हैं और देशवासियों को खतरे में डालती हैं।

श्री सुरजेवाला ने कहा कि विमुद्रीकरण के बाद, श्री मोदी ने आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म करने का दावा बड़े गर्व से किया, लेकिन तथ्य तो एक अलग कहानी बताते है। विमुद्रीकरण के बाद 23 प्रमुख नक्सली हमले हुए है, जिनमें 97 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 121 नागरिक मारे गए। इसी तरह, विमुद्रीकरण के बाद जम्मू और कश्मीर में 53 प्रमुख आतंकवादी घटनाएं हुईं, जिसमें 99 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 64 नागरिक मारे गए।