Sunday , July 3 2022
Home / छत्तीसगढ़ / विधानसभा का मानसून सत्र हंगामे के बीच तीसरे दिन ही खत्म

विधानसभा का मानसून सत्र हंगामे के बीच तीसरे दिन ही खत्म

रायपुर 03 अगस्त।विपक्षी कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी एवं हंगामे के बीच छत्तीसगढ़ विधानसभा का 11 दिवसीय मानसून सत्र आज तीसरे दिन ही अनुपूरक बजट की मंजूरी एवं अन्य विधाई कार्यों को निपटाने के साथ ही समाप्त हो गया।इसके साथ ही सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।

सदन में दो दिन तक प्रश्नकाल बाधित रहने के बाद तीसरे दिन आज प्रश्नकाल सामान्य रूप से चला इसी दौरान सदस्यों को पूरक कार्य सूची वितरित की गई,जिसे देखते ही कांग्रेस सदस्यों के कड़ा ऐतराज जताया और कहा कि इससे लगता है सरकार चर्चा से भाग रही है,और सत्र को समय से पहले समाप्त करना चाहती है। अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल से उन्होने जानना चाहा कि क्या सत्र को तय अवधि से पहले समाप्त किया रहा है,लेकिन उन्होने कोई जवाब नही दिया।

 नेता प्रतिपक्ष टी.एस.सिंहदेव ने कहा कि कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में सत्र की रूप रेखा तय की गई थी लेकिन सरकार आरोपों का जवाब देने से बच रही है।छत्तीसगढ़ में प्रजातंत्र के लिए के लिए यह अच्छे संकेत नही है।उन्होने कहा कि सत्र को 11 अगस्त तक चलना था और बहुत सारे विषयों पर चर्चा करनी थी।वरिष्ठ कांग्रेस सदस्य भूपेश बघेल ने कहा कि सदन की गरिमा एवं परम्परा की अनदेखी की जा रही है।

श्री बघेल एवं अन्य कांग्रेस सदस्य नारे लगाते हुए अध्यक्ष के आसान के सामने पहुंच गए।असम्बद्द सदस्य अमित जोगी,निलम्बित कांग्रेस सदस्य आर.के.राय भी आसान के सामने पहुंचे जबकि कल तक जोगी कांग्रेस सदस्यों के आसन के सामने आने का विरोध कर रहे थे।

 अध्यक्ष ने इसके बाद आसन से सामने आए सदस्यों का नाम पुकारते हुए सदन के नियमों के मुताबिक स्वमेव निलम्बित होने के कारण सदन से बाहर जाने को कहा,पर नारेबाजी कर रहे सदस्यों ने उसे अनसुना कर दिया। विपक्षी सदस्य सत्र को पहले समाप्त किए जाने पर हंगामा एवं नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के सामने आ गए और स्वमेव निलम्बित हो गए,लेकिन अध्यक्ष के बार बार कहने के बाद भी सदन से बाहर नही गए,और कार्यवाही समाप्त होने तक नारे लगाते रहे।असम्बद्द सदस्य अमित जोगी,निलम्बित कांग्रेस सदस्य आर.के.राय एवं कांग्रेस सदस्य सियाराम कौशिक सदन के भीतर ही सत्र जल्द समाप्त करने के विरोध में धरना देकर बैठ गए है।  

अध्यक्ष ने नारेबाजी के बीच ही कार्यवाही को आगे बढ़ा दिया।इसके बाद चालू वित्त वर्ष के एक हजार सात सौ सत्तहतर करोड़ 57 लाख से अधिक के प्रथम अनुपूरक बजट का वित्त विभाग के भारसाधक मंत्री मुख्यमंत्री डा.सिंह ने प्रस्ताव किया।अनुपूरक पर सत्ता पक्ष के तीन चार सदस्यों ने चर्चा पर हिस्सा लिया और इसके बाद अनुपूरक तथा तत्सबंधी विनयोग विधेयक को मुख्यमंत्री डा.सिंह के चर्चा के संक्षिप्त जवाब के बाद सदन ने ध्वनि मत से पारित कर दिया।

कांग्रेस सदस्य इस दौरान नारेबाजी करते रहे।अध्यक्ष ने कार्यसूची के अनुसार कार्य निपटाने के उपरान्त सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा कर दी।इसी दौरान असम्बद्द सदस्य अमित जोगी, निलम्बित कांग्रेस सदस्य आर.के.राय एवं कांग्रेस सदस्य सियाराम कौशिक सदन के भीतर ही सत्र जल्द समाप्त करने के विरोध में धरना देकर बैठ गए है।