Sunday , November 28 2021
Home / छत्तीसगढ़ / वित्तीय समावेशन शिविर में 03 करोड़ 95 लाख के ऋण वितरित

वित्तीय समावेशन शिविर में 03 करोड़ 95 लाख के ऋण वितरित

रायपुर 03अक्टूबर।छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भारत सरकार की जनहित की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत आज यहां आयोजित वित्तीय समावेशन शिविर में युवाओं को खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए तीन करोड़ 95 लाख 37 हजार रूपए का ऋण स्वीकृत किया गया।

लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत ने वित्तीय समावेशन शिविर का शुभारंभ किया।उन्होंने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, स्टैण्ड अप योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत युवाओं को विभिन्न बैंकों से स्वीकृत ऋण राशि के चेक वितरित किए। इस शिविर का आयोजन भारत सरकार के वित्त मंत्रालय और छत्तीसगढ़ शासन के वित्त विभाग द्वारा रायपुर के अग्रसेन धाम में किया गया। इस शिविर में 48 बैंकों के स्टाल लगाए गए थे।

शिविर में विभिन्न योजनाओं के तहत ऋण स्वीकृत करने के अलावा जन-धन योजना के तहत खाते खोले गए तथा हितग्राहियों के बैंक खातों को आधार और मोबाइल से लिंक किया गया।

मंत्री श्री मूणत ने शिविर का शुभारंभ करते हुए कहा कि अब युवाओं को आसानी से ऋण उपलब्ध हो रहा है। इससे वे अपने पसंद का व्यवसाय शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 13 लाख परिवारों को स्वयं का व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण स्वीकृत किया गया है। श्री मूणत ने कहा कि इस ऋण के माध्यम से एक परिवार को ही नही बल्कि दूसरे युवाओं को भी रोजगार मिल रहा है।उन्होंने कहा कि युवाओं को ज्यादा से ज्यादा इन योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए। रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री रमेश बैस ने कहा कि युवाओं के विकास से ही देश का विकास संभव है।

मुख्य सचिव विवेक ढांड ने कहा कि जनधन खाता खोलने में छत्तीसगढ़ देश में पहले स्थान पर है। अब इन खातों को आधार और मोबाइल से लिंक किया जा रहा है। इससे हितग्राहियों को समय पर पैसा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फ्लैगशिप स्कीम के तहत लोगों को लाभ दिलाया जा रहा है। उन्होंने हितग्राहियों के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।रायपुर के कलेक्टर ओ.पी.चौधरी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यावसायिक शिक्षा पर जोर दिया।