Thursday , August 18 2022
Home / MainSlide / वादे,वचन और घोषणाओं के सपने बेचने में कौन होगा सफल? – अरुण पटेल

वादे,वचन और घोषणाओं के सपने बेचने में कौन होगा सफल? – अरुण पटेल

अरूण पटेल

भाजपा दृष्टि पत्र, कांग्रेस वचन पत्र तथा आम आदमी पार्टी शपथ पत्र पर लोकलुभावन वादों और सुनहरे भविष्य का इन्द्रधनुषीय सपना दिखाकर मतदाताओं का दिल जीतने की कोशिश कर रहे है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के मीडिया प्रभारी तथा राज्य खनिज निगम के पूर्व उपाध्यक्ष गोविन्द मालू का कहना है कि भाजपा के पास शिवराज सिंह चौहान के रूप में एक लोकप्रिय और आजमाया हुआ विश्‍वसनीय चेहरा है। वहीं नीति, नियत और नेटवर्क की प्रमाणिकता है तथा वह जनोन्मुखी राजनीति करते है। शिवराज सरकार ने  विकास किया है तथा सामाजिक सरोकारों से जुडी योजनाओं को प्रभावी ढंग से धरातल पर उतारा है इसलिए समृद्ध मध्यप्रदेश बनाने के लिए प्रदेश की जनता एक बार फिर भाजपा को ही मौका देगी।

प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा का कहना है कि 15 साल तक प्रादेश की जनता को भाजपा की सरकार ने ठगा है। घोषणाओं पर घोषणाएं की है। परिस्थिति ठीक होंगी यह सोचते हुए मतदाताओं  ने उसे तीन बार मौका दिया लेकिन हर बार वह अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहे है। किसानों के हित में बातें तो बहुत की जाती रही है लेकिन हकीकत इससे अलग है। कांग्रेस किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ़ करेगी। फसलों का उचित मूल्य दिलाएगी और बड़े पैमाने पर फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाए जाएँगे। एक करोड़ युवा बेरोजगार है और व्यापम घोटाले के माध्यम से युवाओं को छला गया है। कांग्रेस व्यापम को बंद कर पारदर्शी व्यवस्था लागू करेगी और लोगों को रोजगार देगी। एक साल तक युवाओं को प्रतिमाह चार हजार रूपया प्रोत्साहन राशि दी जाएगी और इस बीच रोजगार के अवसर पैदा किये जाएँगे। महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी दी जाएगी, कानून का डर बना रहे इसके लिए पुलिस थानों को संवेदनशील बनाया जाएगा। महिला सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता होगी और सुरक्षा एप्स युक्त स्मार्ट फ़ोन महिलाओं को दिए जाएँगे।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश संगठन मंत्री पंकज सिंह कह रहे है कि शिक्षा, स्वास्थ और रोजगार उनकी पार्टी की प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर है।दिल्ली की तर्ज पर मध्यप्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ के क्षेत्र में बड़े बदलावों को अंजाम दिया जाएगा। नौजवानों को रोजगार देने के साथ ही आदिवासी अधिकारों और महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यान होगा। भाजपा के मुख्य प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय का कहना है कि भाजपा ने पिछले 15 सालों में सड़क बिजली, सिंचाई सुविधाओं समेत व्यापक अधोसंरचना विकसित की है। गरीबों को गरिमामय जीवन जीने का अवसर दिया है। स्वास्थ, शिक्षा, रोजगार, आवास, बिजली उपलब्ध कराई है। प्रदेश में कृषि क्रांति कर किसानों की आमदनी को बढ़ाया है। कांग्रेस के बहकावे में मतदाता नही आएँगे क्योंकि 45 वर्षों तक उसने प्रदेश को बीमारु राज्य बना रखा था। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी का कहना है कि किसानों का कर्जा माफ़, बिजली बिल हाफ, बहन बेटियों को इन्साफ, उद्योग-धंधों की तरक्की और नौजवानों की नौकरी पक्की होगी। कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद लोगों का विकास, सुरक्षा और जीविका को सुनिश्‍चित करना हमारी प्राथमिकता रहेगी। कांग्रेस पार्टी जनता को इस चुनाव का चेहरा बनाकर उनकी आशाओं, अपेक्षाओं और अभिलाषाओं को पूरा करेगी। वक़्त है बदलाव का, यह कोई खोखला चुनावी जुमला नहीं बल्कि वास्तविकता है। जनता को हमारा वचन है, परिवर्तन की लहर लाने का हमारा संकल्प है। बेरोजगार सेना के प्रांतीय अध्यक्ष अक्षय हुँका का कहना है कि मध्यप्रदेश की तीन बड़ी समस्या बेरोजगारी, महिला सुरक्षा और खेती किसानी का संकट है। एक तरफ बेरोजगारी बढ़ रही है, किसानों को फसलों के उचित दाम नही मिल पा रहे है और महिलाओं पर अत्याचार बढ़ रहे है। इसलिए प्रदेश के मतदाता वोट देते समय यह ध्यान जरूर रखें कि जिस प्रत्याशी को वोट देना चाहते है उनकी इन तीनों मुद्दों को लेकर क्या प्रतिबद्धता है। 11 दिसंबर को यह पता चलेगा कि मतदाता ने किसके वादों, घोषणाओं और वचनबद्धता पर भरोसा जताया है।