Friday , January 28 2022
Home / MainSlide / वनवासियों को योजनाओं का लाभ दिलाने में वन समितियों की अहम भूमिका-रमन

वनवासियों को योजनाओं का लाभ दिलाने में वन समितियों की अहम भूमिका-रमन

रायपुर 24 जुलाई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं से ग्रामीणों और वनवासियों को लाभान्वित करने में संयुक्त वन प्रबंधन समितियों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

डॉ. सिंह आज अपने निवास परिसर में हमर छत्तीसगढ़ योजना में रायपुर और नया रायपुर के भ्रमण पर आए रायगढ़, सरगुजा, कांकेर, राजनांदगांव और गरियाबंद जिलों से आए संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के 580 सदस्यों को सम्बोधित कर रहे थे।उन्होने कहा कि गरीबों के जीवन में परिवर्तन के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना में 11 लाख पक्के आवासों का निर्माण किया जा रहा है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में 36 लाख परिवारों को रसोई गैस कनेक्श्न का वितरण किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब परिवारों को गंभीर बीमारियों के इलाज में होने वाली दिक्कत को दूर करने के लिए आयुष्यमान भारत योजना प्रारंभ की है इससे राज्य के 37 लाख लोगों को किडनी ट्रांसप्लांट, हार्ट की बायपास सर्जरी और कैंसर के इलाज जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए 5 लाख रूपए तक की सुविधा मिलेगी। मुख्यमंत्री ने अपने निवास में रायगढ़, सरगुजा, कांकेर, राजनांदगांव और गरियाबंद जिलों की संयुक्त वन प्रबंधन समितियों से आए प्रतिनिधियों का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए की वृद्धि की गई है, इसमें राज्य सरकार द्वारा 300 रूपए की बोनस को मिलाकर अब 2050 रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान की खरीदी की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तेन्दूपत्ता प्रति मानक बोरा संग्रहण दर जो वर्ष 2003 में 450 रूपए थी जिसे अब बढा़कर 2500 रूपए कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि विकास यात्रा के दूसरे चरण में 608 करोड़ रूपए का तेन्दूपत्ता बोनस और 12 लाख चरण पादुका का वितरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि संचार क्रांति योजना में 50 लाख परिवारों को स्मार्ट फोन का वितरण किया जाएगा, जिसमें 40 लाख फोन महिलाओं को दिए जाएंगे। स्मार्ट फोन में राज्य और केन्द्र शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी होगी।

संयुक्त वन प्रबंधन समिति के सदस्यों को संसदीय सचिव श्री गोवर्धन मांझी, विधायक श्री संतोष उपाध्याय ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव वन श्री सी.के. खेतान, मुख्य प्रधान वन संरक्षक श्री आर.के. सिंह, संचालक पंचायत श्री तारन प्रकाश सिन्हा सहित जिलों से आए वन प्रबंधन समिति के सदस्य उपस्थित थे।