Thursday , December 9 2021
Home / MainSlide / राष्ट्रीय कृषि मेले में प्रतिदिन आयोजित होगी कृषक पाठशाला

राष्ट्रीय कृषि मेले में प्रतिदिन आयोजित होगी कृषक पाठशाला

रायपुर 18 जनवरी।छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के नजदीक जोरा में 24 से 28 जनवरी तक आयोजित राष्ट्रीय कृषि मेले में पांचों दिन कृषक पाठशाला का आयोजन किया जायेगा।

कृषक पाठशाला में कृषि वैज्ञानिक, विषय विशेषज्ञ तथा उद्यमी कृषि से संबंधित विभिन्न विषयों पर व्याख्यान देंगे।कृषि मेले में उन्नत कृषि तकनीकों पर जीवन्त प्रदर्शन और किसान प्रश्न मंच का आयोजन भी किया जाएगा।

राष्ट्रीय कृषि मेले में पांच पंडालों में प्रतिदिन दोपहर एक बजे से पांच बजे तक कृषक पाठशाला के तहत विभिन्न विषयों पर व्याख्यान होंगे।मेले के उद्घाटन दिवस 24 जनवरी को पंडाल क्रमांक 1 में विभिन्न कृषि वैज्ञानिकों द्वारा ‘‘प्रति बूंद अधिक फसल’’ विषय पर केन्द्रित चार व्याख्यान दिये जाएंगे। इसी दौरान संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के वैज्ञानिक डॉ. दमन वालिया द्वारा कचरे से खाद बनाने की तकनीक तथा मृदा स्वास्थ्य में कोयला आधारित जैविक ऊर्वरकों की उपयोगिता विषय पर व्याखान दिया जाएगा।

मेले के पंडाल क्रमांक 2 में ‘‘किसानों की आय दोगुनी’’ विषय पर पांच व्याख्यान आयोजित किये जाएंगे। इस सत्र की अध्यक्षता श्री एम.एस. केरकेट्टा संचालक कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग करेंगे और इंदिरा गांधी कृषि विष्वविद्यालय के निदेशक विस्तार डॉ. एम.पी. ठाकुर उपाध्यक्ष के रूप में उपस्थित रहेंगे।

मेले के पंडाल क्रमांक 3 में ‘‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’’ विषय से संबंधित पांच व्याख्यान होंगे। इस सत्र की अध्यक्षता श्री एम.एस. केरकेट्टा करेंगे तथा श्री एस.आर. वर्मा संचालक कृषक प्रशिक्षण संस्थान उपाध्यक्ष के रूप में मौजूद रहेंगे। पंडाल क्रमांक 4 में ‘‘पशु, मत्स्य संवर्धन एवं उत्पादन’’ विषय पर पांच व्याख्यान होंगे। इस सत्र की अध्यक्षता डॉ. एस.के. पाण्डेय संचालक पशुपाल विभाग द्वारा की जाएगी।

इसी प्रकार पंडाल क्रमांक 5 में जीवंत प्रदर्शन तकनीक पर केन्द्रित पांच व्याख्यान आयोजित किये जाएंगे तथा इन तकनीकों का जीवंत प्रदर्शन भी किया जाएगा। डी.डी. किसान चौनल द्वारा किसान प्रश्न मंच का आयोजन भी किया जाएगा। मेले में विशेष रूप से आमंत्रित डॉ. सैमुअल ली हैंगकॉक द्वारा मेले की समस्त गतिविधियों का दुनियां के 25 देशों में प्रसारण किया जाएगा।