Saturday , December 4 2021
Home / MainSlide / मोदी ने सभी क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को किया आमंत्रित

मोदी ने सभी क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को किया आमंत्रित

दावोस 23 जनवरी।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन को विश्व के सामने गंभीर चुनौती बताते हुए कहा कि भारत में निवेश का अनुकूल माहौल है और वह सभी क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का स्वागत करता है।

श्री मोदी ने आज शाम विश्व आर्थिक मंच के पूर्ण सत्र में प्रमुख वक्ता के रूप में अपने भाषण में कहा कि भारत में लोकतंत्र, आबादी में युवा शक्ति का अनुपात और उत्साह से विकास का सपना साकार हो रहा है।उन्होने कहा कि..आज हम भारत की अर्थव्यवस्था को जिस प्रकार से निवेश के लिए सुगम बना रहे हैं उसका कोई सानी नहीं है। इसी का नतीजा है कि आज भारत में निवेश करना, भारत में काम करना, पहले की तुलना में बहुत आसान हो गया है..।

उन्होने कहा कि..हमने लाइसेंस-परमिट राज को जड़ से खत्म करने का प्रण लिया है। रेड टेप हटा कर हम रेड कार्पेट बिछा रहे हैं। अर्थव्यवस्था के लगभग सभी क्षेत्र फॉरन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट के लिए खुल गए हैं..।उन्होने कहा कि सबका साथ, सबका विकास उनकी सरकार का मूल मंत्र है। उन्होंने कहा कि सही मायने में विकास का मतलब, हमें सभी लोगों को साथ लेना होगा। उन्होंने कहा कि स्थिर, पारदर्शी और प्रगतिशील भारत, अनिश्चित और निरन्तर बदल रहे विश्व में एक अच्छा उदाहरण है।

श्री मोदी ने कहा कि शांति, सुरक्षा और स्थिरता सुनिश्चित करना गंभीर वैश्विक चुनौती है। उन्होंने कहा कि आज के समय में प्रौद्योगिकी का महत्व बढ़ता जा रहा है।विश्व आर्थिक मंच की विषय-वस्तु विभाजित विश्व में साझा भविष्य का निर्माण का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम् यानी विश्व एक परिवार है का भारतीय दर्शन, विश्व में विभाजन और दूरियों को पाटने के लिए आज के समय में अधिक प्रासंगिक है।