Tuesday , November 30 2021
Home / छत्तीसगढ़ / मानसून सत्र के पहले दिन दिवंगतों को दी गई श्रद्धांजलि

मानसून सत्र के पहले दिन दिवंगतों को दी गई श्रद्धांजलि

रायपुर 01 अगस्त।छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के प्रथम दिवस पर सदन में केन्द्रीय पर्यावरण और वन और जलवायु परिवर्तन विभाग के पूर्व राज्य मंत्री स्व.अनिल माधव दवे, तत्कालीन मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व सदस्य स्व.जितेन्द्र विजय बहादुर सिंह, अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी हमले में मारे गए तीर्थ यात्रियों, बुरकापाल की नक्सली घटना में शहादत देने वाले वीर जवानों और आतंकवाद का सामना करते हुए शहीद हुए देश के जवानों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

सदन की कार्रवाई शुरू होते हुए विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरी शंकर अग्रवाल ने निधन उल्लेख किया।मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री अनिल माधव दवे को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि श्री दवे सहज-सरल और प्रकृति प्रेमी स्वभाव के व्यक्ति थे।वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। राजनीति में उन्होंने एक अपने व्यक्तित्व और कार्यों से अनुकरणीय आदर्श प्रस्तुत किया।

उन्होंने सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता को कभी भी नहीं छोड़ा।मुख्यमंत्री ने पूर्व विधायक स्व.श्री जितेन्द्र विजय बहादुर सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्वर्गीय श्री सिंह उस पीढ़ी के सदस्य थे, जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम का दौर देखा था। वे भटगांव क्षेत्र से 1957 में निर्दलीय विधायक के रूप में निर्वाचित हुए, जो उनकी लोकप्रियता का प्रमाण है। उनके निधन से प्रदेश के राजनीतिक जीवन को क्षति पहुंची हैं।

अमरनाथ तीर्थ यात्रा के दौरान आतंकी हमले में मारे गए तीर्थ यात्रियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अमरनाथ तीर्थ यात्रा देश की सांस्कृतिक एकता का प्रतीक है। जिसमें पूरे देश के श्रद्धालु शामिल होते हैं। उन्होंने बुरकापाल में नक्सली हिंसा की घटना में शहीद वीर जवानों और आतंकवाद का मुकाबला करते हुए शहादत देने वाले जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि नक्सलवाद और आतंकवाद दोनों ही देश के लिए खतरनाक है।देश के प्रजातंत्र को नुकसान पहुंचाने के उनके मनसूबे कभी सफल नहीं होंगे। नेता प्रतिपक्ष श्री टी.एस. सिंह देव, संसदीय कार्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, विधायक श्री धनेन्द्र साहू और डॉ. सनम जांगड़े ने भी दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित की।