Saturday , January 22 2022
Home / MainSlide / भोरमदेव पद यात्रा 30 जुलाई को

भोरमदेव पद यात्रा 30 जुलाई को

कवर्धा 23 जुलाई।छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में स्थित ऐतिहासिक, धार्मिक, पुरातत्व, एवं पर्यटन महत्त्व स्थल भोरमदेव मंदिर के लिए आयोजित पदयात्रा को ऐतिहासिक रूप दिया जाएगा। सावन महीने के पहला सोमवार 30 जुलाई से पदयात्रा शुरू होगा।

इस बार पहले सोमवार को 50 हजार से अधिक पदयात्रियों सहित कांवरियो द्वारा भोरमदेव मंदिर में जलाभिषेक करने का अनुमान है। कांवरियो और पदयात्रियों को किसी भी तरह की परेशानियां ना हो इसके लिए जिला प्रशासन और भोरमदेव प्रबंधन तीर्थ कारिणी समिति तैयारियों में जुट गया है।

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने सावन महीने के पहले सोमवार 30 जुलाई से शुरू हो रहे पदयात्रा की तैयारियों के सम्बंध में कल रविवार को भोरमदेव मंदिर परिसर में अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में भोरमदेव प्रबंध तीर्थ कारिणी समिति के सदस्यगण, ज्वाइंट हैंड संस्था के सदस्य शामिल हुए। बैठक में पदयात्रा सहित दूरदराज से भोरमदेव मंदिर में आने वाले पदयात्रियों और कावरियों के लिए जिले उचित प्रबंध और सुविधाओं का विस्तार हो इस अनेक निर्णय लिए गए।

भोरमदेव मन्दिर में जल चढ़ाने के लिए आने वाले कांवरियो को जिले के सभी ग्राम पंचायत और सामुदायिक भवनों में विश्राम के लिए व्यवस्था की जाएगी। उनके कांवर को रखने के लिए उचित प्रबंध भी किए जाएंगे। कवर्धा से भोरमदेव मन्दिर परिसर तक बरसात से बचने के लिए त्रिपाल भी लगाए जाएंगे। इसके ग्राम पंचायतों को जिम्मदारी दी गई है। रात में कावरियों के लिए रास्ते मे प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी, इसके लिए विद्युत विभाग को निर्देशित किया गया है। पदयात्रियों और कावरियों को बेहतर व्यवस्था देने के लिए एंबुलेंस और मेडिकल टीम तैनात की जाएगी। मोबाइल टीम भी रहेगी।