Monday , December 6 2021
Home / MainSlide / भीमा कोरेगांव संघर्ष को लेकर संसद को दोनो सदनों में हंगामा

भीमा कोरेगांव संघर्ष को लेकर संसद को दोनो सदनों में हंगामा

नई दिल्ली 03 जनवरी।महाराष्ट्र में पुणे जिले के भीमा कोरेगांव में संघर्ष की घटना को लेकर संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही में बाधा आई।कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी सदस्यों ने भारतीय जनता पार्टी सरकार पर स्थिति से निपटने में कथित रूप से विफल रहने का आरोप लगाया।

लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस सदस्य मल्लिकार्जुन खडगे ने यह मुद्दा उठाया और उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की निगरानी में जांच कराने की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री से इस मुद्दे पर जवाब की मांग की।उन्होंने भाजपा शासित राज्यों में दलितों के प्रति ज्यादतियों का आरोप लगाया। श्री खडगे ने कहा कि हर साल भीमा कोरेगांव युद्ध की स्मृति में आयोजित समारोह में दलित भाग लेते हैं, लेकिन ऐसी घटना कभी नहीं हुई।

श्री खडगे के आरोपों के जवाब में संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कांग्रेस पर इस घटना पर राजनीति करने और राज्य में हिंसा को बढ़ावा देने का आरोप लगाया।इसके बाद कांग्रेस के सदस्य सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए सदन के बीचो बीच आ गये।

राज्यसभा की कार्यवाही हंगामे के कारण पहले 12 बजे तक, फिर दो बजे तक और इसके बाद तीन बजे तक स्थगित कर दी गई। आज सदन की बैठक शुरू होने पर बहुजन समाज पार्टी के सतीश मिश्र और अन्य सदस्यों ने यह मुद्दा उठाया। सदस्यों के शोरशराबे के बीच सभापति एम वेंकैया नायडु ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी। 12 बजे कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर विपक्षी सदस्य हंगामा करते रहे, जिसकी वजह से सदन की कार्यवाही पहले दो बजे तक और फिर तीन बजे तक स्थगित करनी पड़ी।