Sunday , October 2 2022
Home / MainSlide / भाजपा का देशभर में मौन जुलूस, जेपी नड्डा जंतर-मंतर से करेंगे शुरुआत

भाजपा का देशभर में मौन जुलूस, जेपी नड्डा जंतर-मंतर से करेंगे शुरुआत

भारत के विभाजन के दर्द को याद करने के लिए भारतीय जनता पार्टी रविवार को ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ मनाने के लिए देश भर में मौन जुलूस का आयोजन करेगी। इसी कड़ी में भाजपा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर मौन मार्च निकालेगी, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी हिस्सा लेंगे। इसके अलावा भाजपा ने देशभर में प्रदर्शनियों का आयोजन करने की योजना बनाई है। जेपी नड्डा जंतर-मंतर से करेंगे शुरुआत दरअसल, स्वतंत्रता मिलने से ठीक पहले यानी आज के दिन भारत का बंटवारा हो गया था। इसी की याद में भाजपा देशभर में मौन जुलूस निकालने जा रही है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा आज शाम पांच बदे दिल्ली के जंतर मंतर से विभाजन विभीषिका दिवस को मनाने की शुरुआत करेंगे और मौन जुलूस में शामिल होंगे। भाजपा नेता और कार्यकर्ता देश के सभी जिलों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लेकर मौन जुलूस निकालेंगे और भारत के बंटवारे के दौर की विभिषिका को याद करेंगे। भाजपा ने छह सदस्यीय समिति बनाई है न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा द्वारा देश भर में इस विचार के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए छह सदस्यीय समिति बनाई गई है, जिसमें राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन, नरेंद्र राणा, अनिर्बान गांगुली, प्रीति गांधी और शक्ति सिंह शामिल हैं। एएनआई से बात करते हुए दुष्यंत गौतम ने कहा कि पार्टी उन लोगों के परिवारों से मिलेगी, जिन्होंने 1947 में विभाजन के दर्द को झेला था। विभाजन का दर्द झेलने वालों की कहानी बताएगी भाजपा उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जंतर-मंतर पर विभाजन विभिषिका दिवस पर मौन मार्च में हिस्सा लेंगे। पार्टी उन लोगों के परिवारों से भी मुलाकात करेगी, जिन्हें विभाजन के दर्द से गुजरना पड़ा। राष्ट्रीय महासचिव ने आगे बताया कि धर्म के आधार पर हुई विभाजन की भयावहता के बारे में नई पीढ़ी को बताने के लिए हर कदम उठाए जाएंगे। पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि इस बीच प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी। विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि आज ‘विभाजन भयावह स्मृति दिवस’ पर मैं उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि देता हूं, जिन्होंने विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाई और हमारे इतिहास के उस दुखद दौर में पीड़ित सभी लोगों के लचीलेपन और धैर्य की सराहना करता हूं।’