Wednesday , January 19 2022
Home / MainSlide / पुरानी घोषणाएं नही हुई पूरी,नए घोषणा पत्र का क्या औचित्य

पुरानी घोषणाएं नही हुई पूरी,नए घोषणा पत्र का क्या औचित्य

रायपुर 29 सितम्बर।छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा की घोषणापत्र समिति की होने वाली बैठक पर निशाना साधते हुए कहा कि पुरानी घोषणाएं नही हुई पूरी,नए घोषणा पत्र का क्या औचित्य है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने यहां जारी बयान में कहा कि पूर्व में किये गये घोषणाओं को भाजपा के सरकारो ने पूरा नहीं किया है। संकल्पों को भी नहीं पूरा किया है, वादो को नहीं निभाया है, और उन वादों का क्या हुआ? जो किसानों को धान के लिए 2100 रुपए समर्थन मूल्य देने का वादा था. क्यों नहीं मिला समर्थन मूल्य? किसानों को हर साल 300 रुपए बोनस मिलना था, दो साल का बोनस बकाया है, वह कब मिलेगा? रोज़गार देने के वादों का क्या हुआ? 10 किलो दूध देने वाली जर्सी गाय कहां है? पांच हॉर्सपॉवर तक किसानों को मुफ़्त बिजली क्यों नहीं मिली?

उन्होने कहा कि आदिवासियों की ज़मीनें उद्योग लगाने के लिए ली गईं लेकिन उद्योग नहीं लगे, तो ज़मीनें वापस क्यों नहीं मिल रही हैं? जिनक जमीनें ली गई उन्हें मुआवजा क्यों नहीं मिल रहा है। सरकारी कर्मचारियों, अधिकारियों से किये गये वादे नहीं निभाये, नहीं दिया 5 साल तक 300 रू. बोनस 2100 रू. सर्मथन मूल्य, नहीं खरीदा एक-एक दाना धान किसान पर बढ़ाया बिजली बिल और कर्जा का बोझ, फांसी पर लटकने को मजबूर किया गया।

श्री त्रिवेदी ने कहा कि घोषणा पत्र बनाने की प्रभावी और सार्थक पहल कांग्रेस विधायक दल के नेता टीएस सिंह देव की अगुवाई में की गई है कांग्रेस ने सही अर्थों में जन घोषणापत्र  तैयार करने के लिए काम किया है दूसरी और भारतीय जनता पार्टी अपनी परंपरा के अनुसार फर्जी और दिखावे का घोषणा पत्र तैयार करने में लगी हुई है।