Thursday , December 2 2021
Home / MainSlide / नीति आयोग के सीईओ ने किया नक्सल पीडि़त दंतेवाड़ा जिले का दौरा

नीति आयोग के सीईओ ने किया नक्सल पीडि़त दंतेवाड़ा जिले का दौरा

दंतेवाडा 03 मार्च।नीति आयोग के मुख्य कार्यपालन अधिकारी(सीईओ)अमिताभ कांत ने आज छत्तीसगढ़ के नक्सल हिंसा पीडि़त दंतेवाड़ा जिले का दौरा कर बच्चों, युवाओं, किसानों और महिलाओं से बातचीत की और उनकी उन्नति के लिए शासन-प्रशासन द्वारा संचालित विभिन्न परियोजनाओं को देखा।

श्री कांत जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा के नजदीक ग्राम जावंगा स्थित एजुकेशन सिटी में दिव्यांग बच्चों के लिए संचालित सक्षम आवासीय विद्यालय सहित परिसर में चल रहे बीपीओ कॉल सेन्टर, आस्था विद्यालय में चल रहे सुपर स्मार्ट क्लास रूम और विज्ञान वाचनालय  भी पहुंचे। सक्षम विद्यालय में उन्होंने फिजियोथैरेपी कक्ष और बच्चों के शयन कक्षों का भी अवलोकन किया।

उन्होने दंतेवाड़ा के शासकीय जिला अस्पताल और लाईवलीहुड कॉलेज का भी अवलोकन किया। उन्होंने ग्राम कारली पहुंचकर मधुमक्खी पालन तथा जैविक खेती कर रहे किसानों से भी मुलाकात की।एजुकेशन सिटी परिसर में स्थित सक्षम विद्यालय में उन्होंने दिव्यांग बच्चों से बातचीत की और बच्चों के मन में उपजे विभिन्न सवालों का जवाब भी दिया।

श्री कांत ने जिले के ग्राम हीरानार के कड़कनाथ मुर्गा पालन कैम्प को भी देखा। वहां उन्होंने कड़कनाथ कुक्कुट पालन कर रही महिला समूहों से मुलाकात की। कड़कनाथ कुक्कुट पालन से हो रहे फायदे के संबंध में महिलाओं ने अपने-अपने अनुभव साझा किए। ग्राम कासोली की इंद्रावती स्वसहायता समूह की महिला चंपा अटामि ने बताया कि उनका समूह कड़कनाथ कुक्कुट पालन के साथ-साथ मशरूम की खेती और मिनी राइस मिल तथा ई-रिक्शा चलाने का काम भी कर रहा है। इससे महिलाओं को अच्छी आमदनी हो रही है। सबसे ज्यादा आमदनी हमें कड़कनाथ कुक्कुट पालन से हो रही है।

उन्होने महिलाओं की सशक्तिकरण के लिए दंतेवाड़ा जिले में किए जा रहे इन कार्यों की सराहना की और कहा कि आप सभी अच्छे से काम कर अपनी आमदनी को