Thursday , December 2 2021
Home / MainSlide / नदियों और जल स्त्रोंतों के जल संवर्धन के लिए ईशा फाउण्डेशन से कल एमओयू

नदियों और जल स्त्रोंतों के जल संवर्धन के लिए ईशा फाउण्डेशन से कल एमओयू

रायपुर 27 नवम्बर। छत्तीसगढ़ के प्रमुख नदियों और जल स्त्रोंतों के जल संवर्धन और जल संरक्षण के लिए राज्य सरकार और ईशा फाउण्डेशन द्वारा संयुक्त अभियान चलाया जाएगा।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और ईशा फाउण्डेशन के संस्थापक सद्गुरू जग्गी वासुदेव जी की उपस्थिति में  इसके लिए कल 28 नवम्बर को शाम को मंत्रालय में जल संसाधन विभाग और ईशा फाउण्डेशन के बीच एमओयू होगा।

जल संसाधन विभाग के सचिव ने बताया कि छत्तीसगढ़ में प्रमुख नदियों और जल स्त्रोंतों के जल संवर्धन, जल संरक्षण, जल स्वच्छता और जल स्त्रोंतो के पुनर्जीवन के तहत नदियों और जल स्त्रोंतों के किनारे व्यापक हरितकरण, कृषि वानिकी एवं उद्यानिकी को बढ़ावा देते हुए एक वृहद नदी अभियान की रूप-रेखा तैयार की जा रही है। इसके अंतर्गत प्रमुख नदियों और जल स्त्रोंतों के किनारे अधिकतम एक किलोमीटर तक उपलब्ध शासकीय भूमि पर सघन वृक्षारोपण किया जाएगा।

इसके साथ ही नदियों के किनारे उपलब्ध निजी भूमि में बागवानी, उद्यानिकी और कृषि वानिकी के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस कार्य में वन विभाग, कृषि एवं उद्यानिकी, राजस्व, पर्यावरण और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग का सहयोग लिया जाएगा।