Friday , December 3 2021
Home / छत्तीसगढ़ / धार्मिक संस्थाओं को भू-खण्डों का रियायती दरों पर आबंटन

धार्मिक संस्थाओं को भू-खण्डों का रियायती दरों पर आबंटन

रायपुर 23 अगस्त।छत्तीसगढ़ सरकार ने नया रायपुर में  अक्षर धाम (स्वामी नारायण) 10 एकड़, इस्कॉन 10 एकड़, वेदमाता गायत्री ट्रस्ट 5 एकड़, मंदिर हेतु 1-1 एकड़, मस्जिद, चर्च, गुरूद्धारा हेतु 1-1 एकड़, इन संस्थाओं को धार्मिक, आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक प्रयोजनों के लिए रियायती दर पर आवंटित किया है।

मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। सरकार की मंशा इसके जरिए जहां नया रायपुर में बसाहट को प्रोत्साहन करना है वहीं उसे उम्मीद है कि  इन संस्थाओं के आने से देश एवं विदेश के पर्यटक आकर्षित होंगे, जिससे निवेश को बढ़ावा मिलेगा।

धार्मिक/आध्यात्मिक/सांस्कृतिक प्रयोजनों के लिए नियमानुसार आरक्षित प्रीमियम एवं भू-भाटक की राशि का 25 प्रतिशत भार एनआरडीए द्वारा वहन किया जाएगा, जिसकी प्रतिपूर्ति अन्य प्रयोजनों के लिए चिन्हित भूमि पर भारित किया जाएगा।उपरोक्त प्रयोजनों के लिए 50 प्रतिशत प्रीमियम/भू-भाटक की राशि राज्य शासन द्वारा वहन की जाएगी, जो शासन से एनआरडीए को प्रतिपूर्ति की जाएगी।संबंधित संस्था को राज्य शासन के द्वारा निधार्रित शर्तो के अधीन निर्माण कार्य पूर्ण करना होगा।

सरकार ने इसके साथ ही सत्य साँई संजीवनी हॉस्पिटल के नजदीक 25000 वर्गफीट भूमि मंगल भवन निर्णण हेतु आवंटित की है।सेक्टर-02 में सत्य साँई संजीवनी हॉस्पिटल के नजदीक 25000 वर्गफीट भूमि, सत्य साँई संजीवनी हॉस्पिटल के नजदीक मरीजों के ठहरने के लिये अलग से कोई धर्मशाला नहीं है।संस्था द्वारा 2.50 करोड़ की लागत से 300 बिस्तरों के मंगल भवन का निर्माण किया जायेगा।